Famous Foreign Brands Owned By Indian Businesses: भारतीय दुनिया में कहीं भी जाते हैं, तो अपना एक अलग मुक़ाम बनाते हैं. बड़ी-बड़ी विदेशी कंपनियों के सीईओ आज भारतीय हैं. फिर चाहें वो ट्विटर हो या गूगल. मगर इनके अलावा भी कुछ ऐसे भारतीय हैं, जो विदेशी कंपनियों के शीर्ष अधिकारी नहीं, बल्कि उनके असली मालिक हैं. जी हां, भारतीय बिज़नेसमैन्स ने कई बड़े विदेशी ब्रांड्स का अधिगृहण किया है. हम आज ऐसे ही विदेशी ब्रांड्स के बारे में आपको बताने जा रहे हैं, जिनके मालिक भारतीय हैं.

ये भी पढ़ें: विदेशी फ़ुटवियर ब्रैंड्स के दौर में लोगों की पहली पसंद बने हुए हैं ये 6 'Made In India' ब्रैंड्स

वो मशहूर विदेशी ब्रांड्स जिनके मालिक हैं भारतीय (Famous Foreign Brands Owned By Indian Businesses)-

1. मैंडारिन ओरिएंटल (Mandarin Oriental)

Mandarin Oriental
Source: dynaimage

मुकेश अंबानी (CMD Mukesh Ambani) के नेतृत्‍‍‍व वाली रिलायंस इंडस्‍ट्रीज लिमिटेड (Reliance Industries Ltd.) ने न्यूयॉर्क के प्रतिष्ठित लग्जरी होटल मैंडारिन ओरिएंटल का अधिगृहण किया था. कंपनी की सहायक कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रियल इंवेस्टमेंट्स एंड होल्डिंग्स लिमिटेड (RIIHL) ने लगभग 729 करोड़ रुपये में होटल की 73.37 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल की थी. बता दें, रिलायंस का प्लान पूरी 100 फ़ीसदी हिस्सेदारी लेना का है. 

2. रेंज रोवर (Range Rover)

Range Rover
Source: gulfnews

लैंड रोवर रेंज रोवर को 1970 में ब्रिटिश लीलैंड द्वारा लॉन्च किया गया था. 2008 में जगुआर और लैंड रोवर के अधिग्रहण के बाद, अब ये टाटा मोटर्स के स्वामित्व में है. JLR र्तमान में ब्राज़ील, चीन, भारत, स्लोवाकिया और यूनाइटेड किंगडम में लैंड रोवर्स बनाता है.

3. रॉयल एनफ़ील्ड (Royal Enfield)  

Royal Enfield
Source: bbc

द एनफ़ील्ड साइकिल कंपनी द्वारा 1901 में शुरू किया गया, रॉयल एनफील्ड अब एक भारतीय मल्टीनेशनल ऑटोमोटिव कंपनी आयशर मोटर्स लिमिटेड के पास हैं. कंपनी लगातार प्रोडेक्शन करने वाली सबसे पुरानी वैश्विक मोटरसाइकिल ब्रांड है. चेन्नई में इसका मैनुफ़ैक्चरिंग प्लांट है. (Famous Foreign Brands Owned By Indian Businesses)

4. जैगुआर (Jaguar)

Jaguar
Source: wsj

मूल रूप से एक ब्रिटिश ब्रांड, जैगुआर की स्थापना 1920 के दशक में यूके में हुई थी. रतन टाटा की टाटा मोटर्स ने 2008 में फोर्ड मोटर कंपनी से 2.3 बिलियन डॉलर में अधिग्रहण कर लिया था.

5. हैमलीज़ (Hamleys)

Hamleys
Source: economictimes

हैमलीज़ दुनिया की सबसे पुरानी और सबसे बड़ी टॉय शॉप है. रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) की सब्सिडियरी रिलायंस ब्रांड्स लिमिटेड ने ब्रिटेन के खिलौना ब्रांड हैमलीज (Hamleys) ग्लोबल होल्डिंग्स लिमिटेड को साल 2019 में ख़रीद लिया था. 

6. रैनबैक्सी (Ranbaxy)

Ranbaxy
Source: amazonaws

रैनबैक्सी का स्वामित्व अपने इतिहास के दौरान दो बार बदल गया. 2008 में, जापानी दवा कंपनी दाइची सैंक्यो ने रैनबैक्सी में एक नियंत्रित हिस्सेदारी हासिल की थी. 2014 तक रैनबैक्सी कंपनी में ज़्यादातर शेयर जापान की कंपनी दाइची सैंक्यो के पास थे. उसके बाद भारतीय दवा कंपनी सन फ़ार्मास्युटिकल्स ने रैनबैक्सी के सभी शेयर ख़रीद लिए.