माउंट एवरेस्ट इस दुनिया का सबसे ऊंचा पहाड़ है, जिस पर कई बार इंसान फ़तह हासिल कर चुका है. लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि दुनिया में एक पहाड़ ऐसा भी है, जो भले ही सबसे ऊंचा न हों, लेकिन आज तक उस पर कोई चढ़ाई नहीं कर पाया है.

ये पहाड़ हमारे पड़ोसी देश भूटान और चीन के बीच स्थित है. इसका नाम है Gangkhar Puensum (White Peak Of The Three Spiritual Brothers). इसकी ऊंचाई 24,836 फ़ीट है, जबकि माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई 29,029 फ़ीट.

Source: elitereaders.net

है न कितनी अजीब बात, दुनिया के सबसे ऊंचे पहाड़ से करीब 3 हज़ार फ़ीट छोटे इस पहाड़ पर अब तक कोई फतह हासिल नहीं कर पाया. इसके पीछे भूटान और उसके क़ानून का हाथ है.

दरअसल, भूटान में पहाड़ों को भगवान के समान दर्जा प्राप्त है. ये उनके लिए किसी पवित्र स्थल से कम नहीं. 1994 में भूटान ने एक क़ानून पारित किया था. इसके अनुसार 6000 मीटर तक की ऊंचाई वाले पहाड़ों पर ही पर्यटकों को जाने की अनुमति होगी. इस पहाड़ की ऊंचाई करीब 7000 मीटर है.

Source: bhutanyodsel.com

इसलिए यहां पर कोई भी पर्यटक या पर्वतारोही पहुंच नहीं पाया है. और जिस तरह से माउंट एवरेस्ट को पर्वतारोही गंदा कर रहे हैं, उसे देखते हुए भूटान का ये नियम सही भी लगता है.

हालांकि, ऐसा नहीं है कि किसी ने इस पर्वत पर चढ़ाई करने की कोशिश नहीं की. 1998 में जापान के कुछ पर्वतारोहियों ने चीन की तरफ से इस पर चढ़ाई करने की कोशिश की थी. भूटान को जब इस बारे में पता चला, तो उन्होंने तुरंत एक्शन लेते हुए चीन की सरकार से उन्हें इस पर चढ़ाई करने से रोकने का आग्रह किया था.

Source: atlasandboots.com

चीन सरकार ने भूटान की बात मानते हुए जापानी पर्वतारोहियों का परमिट कैंसल कर दिया था. तब से लेकर आज तक इस पर्वत पर कोई नहीं जा पाया है. इसलिए इसे आप दुनिया का सबसे ऊंचा ऐसा पहाड़ कह सकते हैं, जहां तक कोई पहुंच नहीं पाया है.

इस तरह के और आर्टिकल पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.