माइग्रेन, जिसके नाम से ही डर लगने लगता है. क्योंकि माइग्रेन अटैक जिसे आता है उसके दर्द को वही समझ सकता है. ऐसा लगता है सिर में कई चीज़ें एक साथ तांडव कर रही हैं. घर में होने पर इसे हैंडल किया जा सकता है. सो जाने से माइग्रेन में राहत मिलती है, लेकिन अगर आप ऑफ़िस में हैं, तो इससे लड़ना और दूसरों को समझाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है. आपके पास एक ही ऑप्शन होता है, ऑफ़िस से घर चले जाने का. लेकिन अगर आपने ये हैक्स अपना लिए तो ऑफ़िस में माइग्रेन के दर्द से बच सकते हैं और आपको घर भी नहीं जाना पड़ेगा.

Source: newatlas

ये रहे वो हैक्स:

1. बॉस को इसकी जानकारी दें

Source: engagingexec

बुखार या चोट देखकर और छूने से पता चल जाते हैं, लेकिन माइग्रेन एक ऐसी बीमारी है, जो दिखती नहीं है जिसे सिर्फ़ वो ही महसूस कर सकता है जिसे दर्द हो रहा है. इसका दर्द बहुत ही असहनीय होता है. कई लोग इसे Headache लिख देते हैं, लेकिन ये आम सिर दर्द जैसा नहीं होता है. इसलिए अपने HR और अपने मैनेजर से इसके बारे में खुलकर बात करें, ताकि जब आपका सिर दर्द करे तो आपको कोई बहाना न बनाना पड़े. अगर वो आपकी बात को नहीं समझ पा रहे हैं, तो अपने डॉक्टर से माइग्रेन के ट्रीटमेंट के साथ पूरी जानकारी का एक नोट लिखवा लें और उन्हें वो नोट पढ़ा दें.

2. काम की करने की जगह के बारे में बात करें

Source: forbes

माइग्रेन अटैक आने पर आपका काम बाधित हो सकता है. इसलिए अपने HR से बात करें और उनसे पूछें कि क्या आप अपनी ज़िम्मेदारियों को समायोजित कर सकते हैं, अपने घंटों को शिफ़्ट कर सकते हैं या ऐसी स्थिति में घर से काम कर सकते हैं.

3. प्लान करें

Source: themuse

जिस स्थिति में माइग्रेन आने का डर है या आपको पता है उसके लिए पहले से तैयार रहें. अपने को-वर्कर से अपना काम बांटने के लिए पूछें. इसके अलावा घर ख़ुद ड्राइव करके न जाएं, बल्कि कैब में जाएं.

4. स्ट्रेस को मैनेज करें

Source: heart

माइग्रेन आने की सबसे बड़ी वजह स्ट्रेस है, इसलिए ख़ुद को काम में व्यस्त करें ताकि इधर-उधर की बात सोचने का टाइम न मिले.

स्ट्रेस को कम करने के कुछ नुस्खे हैं इन्हें अपनाएं:
ध्यान केंद्रित करने के लिए दिन भर में पांच मिनट का ब्रेक लें, गहरी सांस लें और ताजी हवा के लिए वॉक पर निकल जाएं.
जो काम ज़्यादा बड़ा लगे उसे छोटे-छोटे हिस्सों में बांट कर करें.
अगर किसी ऑफ़िशियल बात को समझने में परेशानी हो रही है, तो बेझिझक अपने बॉस, HR और को-वर्कर से साझा करें.
स्ट्रेस ज़्यादा होने पर डॉक्टर से सलाह लें.

5. माइग्रेन की अन्य वजहों को कंट्रोल करें

Source: picdn

ब्राइट लाइट्स, तेज़ आवाज़ और तेज़ ख़ूशबू से माइग्रेन होता है. इसलिए इन चीज़ों को Avoid करें.

6. खुला-खुला कमरा ढूंढें

Source: tripadvisor

ऑफ़िस में माइग्रेन होने पर कोई ऐसा कमरा ढूंढे जो खुला-खुला हो. वहां पर लाइट्स ऑफ़ करके थोड़ी देर लेट जाएं. साथ ही छोटी सी तक़िया भी अपने साथ रखें.

7. अपने सहयोगी की मांग करें

Source: microsoft

माइग्रेन होने पर अपने किसी सहयोगी से सहायता मांगे. मदद ऐसे इंसान से लें जो आपके जाने के बाद आपका काम पूरा करके दे दे.

8. ऑफ़िस में एंटी-माइग्रेन किट रखें

Source: cbc

ऑफ़िस में हमेशा एंटी-माइग्रेन किट रखें, जिसमें पेन किलर और वॉमेटिंग की दवाई और एक ठंडा पैक हो. इसके अलावा वो चीज़ें जो आपके माइग्रेन को रोक सकें. साथ ही पानी और खाने के चीज़ें भी रखें. क्योंकि ये दो सबसे बड़े माइग्रेन ट्रिगर होते हैं. ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए हाई प्रोटीन स्नैक्स रखें.

9. ऑफ़िस से छुट्टी ले लें

Source: hr180

अगर माइग्रेन बहुत गंभीर हो गया है और आपका काम बाधित हो रहा है. तो परिवार और चिकित्सा अवकाश अधिनियम (FMLA) के तहत आप छुट्टी लें. माइग्रेन के पेशेंट बिना अपनी नौकरी या हेल्थ इंश्योरेंस खोए, 12 हफ़्ते की Unpaid Leave ले सकते हैं.

अगर इन बातों को अपना लिया, तो माइग्रेन की वजह से घर से ऑफ़िस नहीं आना पड़ेगा.