मुंबई में लोग माचिस की डिबिया जैसे घरों में रहने को मजबूर हैं. कुछ ऐसा ही हाल दुनिया के दूसरे बड़े शहरों का भी है. ऐसा ही एक शहर है दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल. यहां पर लोग 43 वर्ग फ़ीट के कमरों में रहने को मजबूर हैं. इन्हें Goshiwon कहा जाता है. 

Living in Goshiwon
Source: instagram

दक्षिण कोरिया के फ़ोटोग्राफ़र Sim Kyu-Dong ने इन घरों का स्याह पहलू लोगों तक तस्वीरों के ज़रिये पहुंचाने की कोशिश की है. चलिए इनके ज़रिये यहां रहने वाले लोगों की परेशानियों को समझने की कोशिश करते हैं.

Living in Goshiwon
Source: instagram

दरअसल, सियोल में घरों का किराया आसमान छू रहा है. एक छोटी सी दुकान का भी कियारा हज़ारों डॉलर्स में है. इसलिए लोग इन छोटे-छोटे केबिन Goshiwons में रहते हैं. इनका किराया बहुत कम है. 

Living in Goshiwon
Source: instagram

एक बिना खिड़की वाले Goshiwon का किराया क़रीब 15,000 रुपये होगा. खिड़की और बाथरूम के साथ वाले Goshiwon का किराया लगभग 38 हज़ार रुपये है. खिड़की गलियारे की तरफ है या फिर बाहर की ओर इसका भी फ़र्क किराए पर पड़ता है.

Living in Goshiwon
Source: instagram

Sim Kyu-Dong के अनुसार ये सियोल के महंगे किराये वाले कमरों का विकल्प हैं. इन्हें बस आप सोने और पढ़ने लिए इस्तेमाल कर सकते हैं. ये ऐसे लोगों के लिए उपयुक्त हैं जो ग्रामीण इलाके से सियोल अपने सपने को पूरा करने आए हैं. 

Living in Goshiwon
Source: instagram

यहां अधिकतर लोग तब तक रहते हैं जब तक वो बड़े कमरे का किराया और डिपॉजिट देने के लिए पैसे जमा नहीं कर लेते. 

Living in Goshiwon
Source: instagram

इन लोगों की मजबूरी भले ही जो हो, लेकिन ऐसे छोटे-छोटे कमरे में बसर करना वाकई में कठिन है. क्या आप इतने छोटे से कमरे में रहना पसंद करेंगे?

Living in Goshiwon
Source: instagram