Haunted Places In Uttarakhand: उत्तराखंड को 'देव भूमि' कहते हैं. हर साल यहां हज़ारों पर्यटक ऊंचे-ऊंचे पहाड़ और ख़ूसबूरत वादियों को देखने पहुंचते हैं. मगर शायद ही लोग कभी सोचते होंगे कि जिस जगह पर वो हसीन नज़ारें देखने आए हैं, वहां कई अनजान साए भी भटकते रहते हैं. जी हां, उत्तराखंड में कई भुतहा या हॉन्टेड जगहें भी मौजूद हैं. आज हम आपको उन्हीं के बारे में बताने जा रहे हैं.

उत्तराखंड की भुतहा जगहें (Haunted Places In Uttarakhand)

1. लोहाघाट - मुक्ति कोठारी

Lohaghat
Source: traveltriangle

उत्तराखंड के चंपावत जिले में लोहाघाट जगह है, जिसे भारत की सबसे भुतहा जगहों में से एक माना जाता है. कहते हैं यहां एक घर में ब्रिटिश फ़ैमिली रहती थी. उन्होंने अपने घर को अस्पताल बनाने के लिए डोनेट कर दिया. यहां एक डॉक्टर आया, जो भगवान की तरह ख़ुद को दिखाने की कोशिश करता था. वो मरीज़ों को उनकी मौत की तारीख़ और समय बता देता था. जिस मरीज़ की मौत क़रीब आती थी, उसे एक सीक्रेट कमरे में शिफ़्ट किया जाता था, जिसे मुक्ति कोठरी बुलाते थे. कहते हैं कि ये डॉक्टर वहां उनकी बेरहमी से हत्या कर देता था. लोगों की माने तो आज भी इस जगह पर मरने वाले मरीज़ों की आत्माएं भटकती हैं. (Haunted Places In Uttarakhand)

ये भी पढ़ें: Delhi-NCR की 7 भुतहा जगहें, कहीं होती है अजीब सी घटना तो कहीं सुनाई देती हैं ख़ौफ़नाक चीखें

2. सेवॉय होटल - द लेडी घोस्ट

Savoy Hotel
Source: ngtraveller

साल 1902 में बना ये होटल मसूरी में है. कहते हैं 1911 में यहां एक ब्रिटिश अध्यात्मवादी की लाश उसके कमरे में मिली थी. उसे ज़हर देकर किसी ने मार दिया था. दिलचस्प बात ये है कि जिस डॉक्टर ने उसका पोस्टमार्टम किया था, उसकी मौत भी कुछ साल बाद इसी वजह से हुई. स्थानीय लोगों की मानें तो यहां आज भी उस महिला की चीखें सुनाई देती हैं, वो लोगों के दरवाज़े पर थपथपाती है. कहते हैं ये आत्मा आज भी अपने क़ातिल की तलाश कर रही है. 

3. लंबी देहर माइंस - माइन ऑफ डेथ

Lambi Dehar Mines
Source: traveltriangle

ये खदान मसूरी में मौजूद हैं. यहां साल 1990 में काम करने वाले क़रीब 50,000 मज़दूर बीमार पड़ने लगे. उन्हें फेफड़ों की बीमारी हो गई. खांस-खांस कर उनके मुंह से ख़ून निकलने लगा. इस तरह वो दर्दनाक तरीक़े से मारे गए. तब से ये जगह भुतहा हो गई. कहते हैं कि यहां मज़दूरों की चीखें सुनाई देती हैं. यहां कारों और ट्रकों की रहस्यमय दुर्घटनाओं के साथ-साथ हेलीकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने के पीछे भी इन आत्माओं को ज़िम्मेदार ठहराया जाता है. स्थानीय लोग यहां आने वाले पर्यटकोंं को इस जगह से दूर रहने की हिदायत देते हैं.

4. परी टिब्बा - परियों की पहाड़ी

 Pari Tibba
Source: traveltriangle

उत्तराखंड में Hill Of Fairies नाम की एक जगह है, जिसे परी टिब्बा भी कहते हैं. ये घने जंगलों के बीच स्थित एक लोकप्रिय जगह है. मशहूर लेखक रस्किन बॉन्ड ने अपनी कई कहानियों में परी टिब्बा का जिक्र किया है. यहां बिजली गिरने की घटनाएं होती रहती हैं. इस पहाड़ी से कई कहानियां जुड़ी हुई हैं, जिनमें से एक है प्रेमियों की कहानी. ऐसा माना जाता है कि बिजली गिरने से इस स्थान पर दो प्रेमियों की मौत हो गई. कुछ दिनों के बाद, उनके झुलसे हुए शव बरामद किए गए, लेकिन कहते हैं कि उनकी आत्माएं आज भी जंगल में भटकती रहती हैं.

5. मुलिंगर मेंशन - घोस्ट राइडर

Mullingar Mansion
Source: traveltriangle

मसूरी में साल 1825 में मुलिंगर मेंशन बना था. यहां सिरमूर बटालियन के एक आयरिशमैन कमांडर कैप्टन यंग रहा करता था. कहते हैं कि रिटायरमेंट के बाद वो वापस आयरलैंड चला गया. हालांकि, लोग इस बात पर भरोसा नहीं करते. लोगों का मानना है कि यहां कैप्टन यंग की आत्मा भटकती है. स्थानीय लोगों की मानें, तो यहां आज भी मैदान में एक घोस्ट राइडर देखा जाता है. 

6. सिस्टर्स बाज़ार - हॉन्टेड हाउस

Sisters Bazaar
Source: theconversation

राजसी पहाड़ों पर बसे 'सिस्टर बाज़ार' में एक घर उत्तराखंड के सबसे प्रेतवाधित स्थानों में से एक है, जिसे देखकर लोग हैरान रह जाते हैं. जंगल के बीच में बनी इस जगह में पर्यटक मनमोहक दृश्यों को देखने आते हैं. ये भुतहा घर औपनिवेशिक बंगले के कुछ हिस्सों में से एक था. इस स्थान पर अभी भी ट्रेकर्स और पार्टी के लोग घूमते हैं, जो सिर्फ ट्रेल की खूबसूरती के लिए पार्टी स्पॉट की तलाश करते हैं. लेकिन कोई भी शख़्स इस घर में दाखिल होने की हिम्मत नहीं करता. (Haunted Places In Uttarakhand)