आपने नोटिस किया होगा कि थोड़े ही दिनों में आपके नाक के बाल लंबे हो जाते हैं. इतने कि वो नाक के बाहर झांकने लगते हैं. ऐसे में कुछ लोग इन्हें ट्रिम करने के बजाय हाथ से ही खींचकर उखाड़ देते हैं. ये सुनने में अजीब और दर्दनाक ज़रूर लगेगा, लेकिन कुछ लोग ऐसा करते हैं. अग़र आप भी ऐसे ही लोगों में से हैं, तो ज़रा ठहर जाइए. क्योंकि नाक के बाल उखाड़ना आपके लिए जानलेवा भी हो सकता है. 

Source: medicaldaily

ये सुनकर भले ही आपको हैरानी हो रही हो, लेकिन ये वाक़ई में बेहद ख़तरनाक काम है. ऐसा क्यों है, आज हम आपको इसी सवाल का जवाब देंगे.

ये भी पढ़ें: पैर की सबसे छोटी उंगली में चोट लगते ही, प्राण उड़ जाने टाइप का दर्द क्यों होता है?

आपकी हेल्थ के लिए बेहद ज़रूरी हैं नाक के बाल

ज़ाहिर तौर पर ये सवाल ज़रूर मन में आता होगा कि आख़िर नाक में बाल होते ही क्यों हैं. जब ये बढ़कर बाहर निकल आते हैं, फिर तो ये और भी ख़राब लगते हैं. मग़र आपको बता दें, नाक के बाल आपकी सुंदरता बिगाड़ने के लिए नहीं, बल्कि आपको सुरक्षित रखने के लिए होते हैं. 

Source: brightside

दरअसल, नाक के बाल आपकी रक्षा प्रणाली का हिस्सा है. जब आप सांस लेते हैं, तो आपको सिर्फ़ ऑक्सीजन ही नहीं मिल रही होती, बल्कि इसके साथ ही आपकी नाक में कई तरह के बैक्टीरिया, धूल और गंदगी भी जाती है. ऐसे में नाक के बाल इन्हें शरीर में जाने से रोकते हैं. इससे हमें सांस से जुड़ी बीमारियां नहीं होती हैं. 

2011 की एक स्टडी के मुताबिक, जिन लोगों के नाक में कम बाल होते हैं, उन्हें अस्थमा होने की ज़्यादा संभावना होती है. जिसका सीधा सा मतलब ये है कि आपके नाक के बाल आपके फेफड़ों के लिए फ़िल्टर का काम करते हैं.

नाक के बाल तोड़ने के ख़तरे

नाक के बाल तोड़ने से आपके हेयर फॉलिकल खुल जाते हैं. इस कारण सभी बैक्टीरिया, गंदगी और धूल के काण रोमछिद्रों में जमा होने लगते हैं. इससे आपको इंफ़्केशन का ख़तरा बढ़ जाता है. साथ ही, ये आपके इम्यून सिस्टम पर भी असर डालता है. 

Source: indy100

इसके पीछे वजह ये है कि हमारे चेहरे का एक हिस्सा डेंजर ट्राइंगल कहलाता है. ये नाक के ऊपर से लेकर मुंह के दोनों किनारे का एरिया होता है. इसी जगह हमारी रक्त वाहिकाएं और तंत्रिकाएं होती हैं, जिससे हमारे ब्रेन में ब्लड पहुंचता है. ऐसे में जब हम नाक के बाल तोड़ते हैं तो इन ब्लड वेसेल्स को नुकसान पहुंचता है. इसमें छेद हो जाने से खून का थक्का भी जम सकता है, जिससे इंफ़ेक्शन हमारे मस्तिष्क तक पहुंच सकता है. अग़र ऐसा हुआ तो हमारा मानसिक संतुलन बिगड़ सकता है और स्थिति गंभीर होने पर मौत भी हो सकती है.

ऐसे में अग़र आपके नाक के बाल बढ़ गए हैं और आप उनसे निजात चाहते हैं तो उन्हें उखाड़िए मत. बेहतर ये है कि आप कैंची लेकर सावधानी से उन्हें काटें या फिर इसके लिए ट्रिमर का इस्तेमाल भी कर सकते हैं.