क्या आपको ट्रैवल करना पसंद है? अगर हां तो आपने अपनी यात्रा के दौरान कुछ चेंज़ ज़रूर महसूस किए होंगे. जैसे यातायात के साधन, ठहरने की जगह, ट्रैवलिंग में हेल्प करती टेक्नोलॉजी आदि. पिछले एक दशक में ट्रैवल इंडस्ट्री में रेवेन्यू के मामले में कमाल का उछाल देखने को मिला है. जो इन्हीं बदलावों की वजह से है.

आइए एक नज़र डालते हैं बीते 10 सालों में आए लोगों के ट्रैवल एक्सपिरिंस में आए बदलावों पर.

1. सेल्फ़ी को कह दिया ना

Source: genextstudents

सेल्फ़ी लेना बीते कुछ सालों में एक ट्रेंड सा बन गया था. मगर इसकी वजह से कई लोगों की जान भी चली गई. इनमें कुछ ट्रैवलर्स भी थे. इन्हीं को ध्यान में रखते हुए अब कुछ जगहों पर सेल्फ़ी लेना और सेल्फ़ी स्टिक को बैन कर दिया गया है. जैसे लंदन की नेशनल गैलरी, वाशिंगटन का Smithsonian Institution और न्यूयॉर्क का Museum Of Modern Art.

2. महिलाएं अकेले ट्रैवल करने लगी हैं

Source: traveller

सोलो ट्रैवलिंग को लेकर पहले महिलाएं ख़ुद को सेफ़ नहीं पाती थीं, मगर टेक्नोलॉजी और नए ज़माने की सोच ने उनके इस भय को कम किया है. अब अधिकतर टूरिस्ट प्लेसेस पर महिलाएं भी अकेले ट्रैवल करती दिख जाती हैं. महिलाएं भी अपनी Adventurous साइड को एक्स्पलोर करने लगी हैं.

3. सब कुछ ऑनलाइन मिल जाता है

Source: allphones

अब आप एक क्लिक कर दुनिया के किसी भी कोने से कहीं का भी टिकट और होटल बुक कर सकते हैं. ऑनलाइन ट्रैवलिंग टूल्स ने लोगों को जब मन चाहा तब अपनी यात्रा प्लान करने का ऑप्शन दे दिया है.

4. सस्ती एयरलाइन्स

Source: businesstoday

कुछ लोग सस्ती एयरलाइन्स की टिकटों के चलते भी ट्रैवल कर रहे हैं. अब तो सभी एयरलाइन्स कम बजट में टिकट बुक करने के ऑफ़र्स भी लेकर आने लगी हैं. इसका श्रेय कम ईंधन की खपत करने वाले विमानों को भी जाता है.

5. सबकुछ अब ऑटोमेटिक है

Source: forbes

बोर्डिंग पास को प्रिंट करने से लेकर सामान की चेकिंग तक अब सब कुछ ऑटोमेटिक हो गया है. एयरलाइन्स की तरह ही कुछ होटल्स भी अब टेक्नोलॉजी की मदद से अपने कस्टमर्स को ऑटोमेटिक रूप से चेक इन करने की भी सहूलियत देने लगे हैं.

6. सोशल मीडिया की शक्ति

Source: food

सोशल मीडिया ने यात्रियों में विश्वास पैदा करने में अहम भूमिका निभाई है. वो कहीं भी जा सकते हैं कुछ दिक्कत होने पर सोशल मीडिया पर मदद मांग सकते हैं. साथ ही उस टूरिस्ट प्लेस की आलोचना भी कर सकते हैं.

7. यात्री पर्यावरण की परवाह करने लगे हैं

Source: localmilkblog

अब यात्री अपनी यात्रा के दौरान पर्यावरण का भी ख़्याल रखने लगे हैं. वो फिर से इस्तेमाल किए जाने वाली बोतल, बैग्स आदि का इस्तेमाल करने लगे हैं. यही नहीं प्रदूषण कम हो इसलिए पब्लिक ट्रांस्पोर्ट से ट्रैवल करने लगे हैं. ये किफ़ायती भी है और इको-फ्रेंडली भी

अगली बार आप कहीं जाने का प्लान बनाएं को इन बदलावों अपनी यात्रा के दौरान महसूस करने की कोशिश करना.


Lifestyle से जुड़े दूसरे आर्टिकल पढ़ें ScoopWhoop हिंदी पर.