आजकल ज़्यादातर घरों में खाना बनाने के लिए लोग गैस का इस्तेमाल करते हैं. इसमें एक पाइप के सहारे चूल्हे तक गैस पहुंचती है. मगर कई बार देखा जाता है कि गैस के रेगुलेटर के ढीला होने या फिर पाइप की लीकेज की वजह से गैस लीक होने लगती है. कभी-कभी गैस और चूल्हा खुला रह जाता है, तो भी गैस बाहर निकल आती है. ऐसी परिस्थिती में एक छोटी सी चिंगारी भी बड़े हादसे को अंजाम दे सकती है.

thenewsrepair

यही वजह है कि बहुत से लोग गैस लीक होने पर पैनिक होने लगते हैं. उन्हें समझ ही नहीं आता कि वो क्या करें. ऐसे में आज हम आपको उन सावधानियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो गैस लीक होने की सिचुएशन में आपको बरतनी चाहिए.

1. सबसे पहले सिलेंडर को बंद करें.

tamil.samayam

कभी भी आपको गैस की गंध महसूस हो तो घबराएं नहीं. सबसे पहले गैस सिलेंडर को बंद कर दें. फिर वहां आसपास रखे माचिस, लाइटर और ज्वलनशील सामान को तुरंत हटा दें. अगर दिया, अगरबत्ती वगैरह जल रही हो, तो उसे भी फ़ौरन बुझा दें. 

2. ग़लती से भी इलेक्ट्रिक स्विच न छुएं.

thespruce

ऐसा हो सकता है कि रात में गैस लीक हो और आप नींद में आकर सबसे पहले इलेक्ट्रिक स्विच को ऑन कर दें. बता दें, ऐसी ग़लती कभी मत करिएगा. ये भी हो सकता है कि लाइट पहले से जल रही हो, ऐसे में उसे ऑफ़ करने की भी ज़रूरत नहीं है. क्योंकि इस दौरान अगर किसी स्विच से चिंगारी निकलती है तो गैस की वजह से आग लगने की आशंका रहती है. हालांकि, अगर बहुत ज़रूरी हो तो फिर किसी लकड़ी के सहारे दूर से स्विच ऑफ करें.

3. सभी दरवाज़ें-खिड़कियां खोल दें.

doorstop

गैस लीक होने पर सभी-दरवाज़े खिड़कियां खोल दें. इससे किचन और घर में फैली गैस बाहर निकल जाएगी. अगर संभव हो तो गैस सिलेंडर को किसी खुली जगह पर रख देंं. ऐसे में ग़लती से आग लग भी गई, तो भी बहुत बड़ी दुर्घटना होने का ख़तरा नहीं रहेगा. 

4. अगर सिलेंडर में आग लग जाए, तो क्या करें?

ytimg

अब सवाल ये है कि अगर ग़लती से सिलेंडर में आग लग जाती हैं, तब क्या करना चाहिए? गैस रिसाव के कारण सिलेंडर में आग लग गई है तो घबराने की बजाय पानी में भीगा हुआ कोई सूती कपड़ा, कंबल या बड़ी तौलिया को सिलेंडर पर लपेट दें. इससे आग बुझ जाएगी. अगर आपके घर में कोई आग बुझाने का उपकरण हो, तो फिर उसका भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

5. हमेशा रेगुलेटर और पाइप को करें चेक.

amarujala

जैसा कि पहले भी बताया गया है कि कई बार गैस लीक, रेगुलेटर के ढीले होने या फिर पाइप में लीकेज की वजह से भी होती है. कभी-कभी पाइप भी पूरी तरह से टाइट फिट नहीं होता. यही वजह है कि रेगुलेटर और पाइप को हमेशा चेक करते रहना चाहिए. अगर पाइप या रेगुलेटर में ज़रा सी भी खराबी नज़र आए, तो तुरंत उन्हें बदलवा देना चाहिए.

बता दें, ये सेफ़्टी टिप्स सामान्य मान्यताओं पर बेस्ड हैं. ऐसे में इमेरजेंसी सिचुएशन्स में इन पर अमल करने से पहले विशेषज्ञ की सलाह ज़रूर लेनी चाहिए.