इंसान हर चीज़ का शौक़ीन भले न हो, पर अच्छा ख़ाने-पीने का शौक ज़रूर रखता होगा. देखा जाए, तो ख़ाने-पीने की दुनिया इतनी बड़ी हो चुकी है कि इसमें सेलिब्रिटी शेफ़ ने भी जगह ले ली है. वहीं, जब बात सेलिब्रिटी शेफ़ की आए, तो इंडियन सेलिब्रिटी शेफ़ संजीव कपूर का नाम आना तो लाज़मी है. सिर्फ़ खाना बनाने की कला के दम पर आज संजीव न सिर्फ़ भारत बल्कि विश्व भर में जाने जाते हैं. आइये, इस ख़ास लेख में आपको संजीव कपूर की उस ग़लती के बारे में बताते हैं जिसके लिए आप भी उन्हें थैंक यू कहेंगे. लेकिन, उससे पहले जान लेते हैं थोड़ा उनके बारे में.  

संजीव कपूर की प्रारंभिक ज़िंदगी 

sanjeev kapoor
Source: timesofindia

संजीव कपूर का जन्म 10 अप्रैल 1964 में हरियाणा के अंबाला में हुआ था. चूंकि उनके पिता एक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के कर्मचारी थे, इसलिए उन्हें भारत के कई बड़े शहरों में रहने का मौक़ा मिला. वो पढ़ाई में काफ़ी अच्छे थे और कक्षा 12वीं में उन्होंने 80 प्रतिशत अंक प्राप्त किए थे. 

आर्किटेक्ट बनने की ख़्वाहिश

sanjeev kapoor
Source: celebrity.astrosage

जिस दौर में बच्चे डॉक्टर या इंजीनियर बनना चाहते थे, संजीव कपूर के दिमाग़ में कुछ और ही चल रहा था. forbesindia के अनुसार, संजीव कपूर की एक ख़्वाहिश आर्किटेक्ट बनने की भी थी. उन्होंने Delhi’s School of Planning and Architecture में अप्लाई भी किया और उनका नाम लिस्ट में भी आ गया था, लेकिन आर्किटेक्ट की पढ़ाई करने की जगह उन्होंने Institute of Hotel Management (Pusa) को जॉइन कर लिया.  

सबसे अलग करना चाहते थे

sanjeev kapoor
Source: forbesindia

संजीव कपूर सबसे अलग कुछ करना चाहते थे, वो जो न उनके परिवार, रिश्तेदारों, दोस्तों और आस-पड़ोस में किसी ने किया हो. इसलिए, उन्होंने शेफ़ बनने का सोच लिया. संजीव कपूर ही भारत की पहले सेलिब्रिटी शेफ़ बने.  

खाना खज़ाना  

sanjeev kapoor
Source: mansworldindia

संजीव कपूर को खाना बनाने का जो रंग चढ़ा कि वो आज तक उससे निकल नहीं पाए. इस क्षेत्र में उन्होंने ख़ूब तरक्की की. धीरे-धीरे लोग उन्हें जानने लगे. वहीं, उनकी बनाई रेसीपी लोगों को ख़ूब पसंद आने लगी. वहीं, ज़ी टीवी पर 'खाना खज़ाना' नाम के एक कुकिंग शो ने उन्हें घर-घर तक पहुंचाने का काम किया. ऐसा कहा जाता है कि शो का नाम पहले 'श्रीमान बावर्ची' रखा जा रहा था, लेकिन संजीव को ये नाम पसंद न आया और उन्होंने शो का नाम खाना खज़ाना रखवाया. खाना खज़ाना इतना लोकप्रिय हुआ कि इसने कई बार बेस्ट कुकरी शो अवार्ड भी जीता.  

ख़ुद का चैनल 

sanjeev kapoor
Source: entrepreneur

वहीं, 2011 में संजीव कपूर ने अपना ख़ुद का 24 घंटे चलने वाले कुकरी चैनल ‘FoodFood’ खोल दिया. इस चैनल ने भारत के साथ-साथ विश्व की एक बड़ी आबादी जुड़ी हुई है. दोस्तों, सोचिए अगर संजीव कपूर आर्किटेक्ट बन जाते, तो हम उनकी शानदार रेसीपी का आनंद न ले पाते. इसके लिए तो उन्हें थैंक यू तो बोलना बनता है.