दुनिया की सबसे छोटी और सबसे बड़ी चीज़ों के बारे में जानना अपने आप में ही काफ़ी दिलचस्प विषय है. वहीं, बात जब दुनिया के सबसे छोटे देशों की हों, तो दिलचस्पी और बढ़ जाती है. आइये, इसी क्रम में हम आपको दुनिया के सबसे छोटे देशों में एक 'Molossia' के बारे में बताते हैं, जहां ख़ुद देश के राष्ट्रपति यहां आने वाले सैलानियों को घुमाते. इस लेख में आप इस देश से जुड़ी और भी कई दिलचस्प चीज़ों के बारे में जानेंगे.

सबसे छोटे देशों में से एक   

Molossia
Source: theculturetrip

इस देश का नाम है 'Molossia', जो डेटन (नेवादा) के पास 1.28 एकड़ भूमि पर अपनी संप्रभुता का दावा करता है. जानकारी के अनुसार, इस देश की स्थापना Kevin Baugh (मोलोसिया के राष्ट्रपति) द्वारा की गई थी. 

ख़ुद राष्ट्र होने का किया दावा

Molossia
Source: today

मोलोसिया को Republic of Molossia भी कहा जाता है. जानकारी के अनुसार, मोलोसिया गणराज्य ने ख़ुद से ही राष्ट्र होने का दावा किया है यानी यह एक स्वघोषित राष्ट्र है. इस देश को किसी भी सरकार या संयुक्त राष्ट्र के द्वारा देश होने की मान्यता प्राप्त नहीं है. 

देश की भौगोलिक संरचना

Molossia
Source: vice

मोलोसिया गणराज्य ग्रेट बेसिन में स्थित है, जो उत्तरी अमेरिका का सबसे बड़ा शुष्क क्षेत्र है. यहां की भूमि सूखी, पथरीली और रेतीली है. मोलोसिया डेटन घाटी में कार्सन नदी के पास स्थित है. 

देश की कुल जनसंख्या

Republic of Molossia
Source: pri.org

माना जाता है कि मोलोसिया गणराज्य में केवल 32 लोग रहते हैं. इससे यह पता लगाया जा सकता कि यह देश कितना छोटा है. वहीं, यहां ज्यादातर रहने वाले लोगों में Kevin Baugh के ही रिश्तेदार हैं.   

ख़ुद की करेंसी

molossia currency
Source: molossia

भले ही इस देश को राष्ट्र होने की मान्यता प्राप्त नहीं है, लेकिन इस देश की अपनी ख़ुद की क़ानून व्यवस्था है. इसके अलावा, इस देश की अपनी ख़ुद की करेंसी (valora) भी है.   

अपना झंडा   

Republic Of Molossia flag
Source: worldatlas

साथ ही इस देश ने अपना झंडा भी बनाया है, जो नीले, सफ़ेद और हरे रंग का है. नीली पट्टी देश की ताक़त का प्रतिनिधित्व करती है, सफ़े पट्टी शुद्धता और आसपास के पहाड़ों का प्रतिनिधित्व करती है और हरी पट्टी समृद्धि और मोलोसियन लैंडस्केप का प्रतिनिधित्व करती है. 

पर्यटकों को देश का भ्रमण कराते हैं राष्ट्रपति

molossia president
Source: vice

यह अपने आप में ही एक ख़ास और अनोखी बात है कि यहां घूमने आए पर्यटकों को यहां के राष्ट्रपति सैर कराते हैं. वे उन्हें देश की सड़कें, इमारतें व अन्य ख़ास चीज़े दिखाते हैं. बता दें कि अन्य देशों की तरह ही यहां आने वाले पर्यटकों को पासपोर्ट पर स्टाम्प लगवाना पड़ता है और पैसे भी बदलवाने पड़ते हैं.