(Japanese Designer Issey Miyake)- इस्सी मियाके जापान के फ़ेमस फ़ैशन डिज़ाइनर थे. जिनका हाल ही में 84 वर्ष में निधन हो गया. मियाके जापान में नहीं बल्कि पुरे विश्व में अपने फ़ास्ट- फ़ैशन और कपड़ों के डिज़ाइन के लिए फ़ेमस थे. साथ ही मियाके का भारत के साथ गहरा संबंध था. फ़ैशन डिज़ाइनर होने के नाते मियाके हर देश में अच्छे कपड़ों की तालाश में रहते थे. उन्हें भारत देश और खादी फ़ैब्रिक यानी कपड़े से प्यार हो गया.


यही एक मात्र कारण था कि मियाके ‘खादी’ के पहले ग्लोबल एम्बेसडर बनें. चलिए इसी क्रम में आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से जापान के पॉपुलर डिज़ाइनर इस्सी मियाके के भारत और भारत के कपड़ों के रिश्ते के बारे में गहराई से बताते हैं.

चलिए नज़र डालते हैं इस्सी मियाके के इस दिलचस्प कहानी पर(Japanese Designer Issey Miyake)- 

इस्सी मियाके का जन्म हिरोशिमा जापान में हुआ था.

fashiongtonpost.com

इस्सी मियाके का जन्म 22 अप्रैल 1938 में हिरोशिमा (जापान) में हुआ था. महज़ 7 वर्ष के थे, तब वो विश्व के सबसे भयानक और बड़े परमाणु बमबारी (1945) के शिकार हुए थे. साथ ही जब मियाके छोटे थे, तो उन्हें डांसर बनने का बहुत शौक़ हुआ करता था. ये सच है कि बहुत से लोगों के करियर ऑप्शन बड़े होते ही बदल जाते हैं.


ऐसा ही मियाके के साथ भी हुआ था. उनके अंदर फ़ैशन को करियर बनाने की दिलचस्पी शुरू तब हुई, जब उन्होंने अपनी बहन की Fashion Magazine पढ़ना शुरू किया. उसके बाद उन्होंने फ़ैशन की दुनिया में नया इतिहास बना दिया.

इस्सी मियाके ने टोक्यो के Tama Art University से ग्राफ़िक डिज़ाइन की पढ़ाई पूरी की थी. 1964 में ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद,  मियाके ने फ़ैशन के ऊपर ज़बरदस्त पकड़ बनाने के लिए Bunka Fashion College में फ़ैशन मुक़ाबले के लिए दाख़िला लिया. लेकिन सिलाई न आने की वजह से वो हार गए. जिसके बाद उन्होंने कई अन्य जगहों पर जाकर फ़ैशन पर अपनी पकड़ मज़बूत की. (Japanese Designer Issey Miyake)

मियाके को भारत की विरासत “खादी” कपड़े से बेहद प्यार था.

जापानी फ़ैशन डिज़ाइनर मियाके “खादी” कपड़े से बहुत लगाव था. उन्हें खादी की सादगी और पवित्रता काफ़ी प्रभावित करती थी. इतना ही नहीं, मियाके की अहमदाबाद में बैकरूम प्रोडक्शन हब भी थे. फ़ैशन डिज़ाइन कॉउंसिल ऑफ़ इंडिया (FDCI) के चीफ़ सुनील सेठी ने याद करते हुए बताया कि,

“2004 में, मैं अहमदाबाद किसी विक्रेता के पास काम से गया था. तब मैंने वहां इस्सी मियाके के लिए कपड़े का उत्पादन करने वाले बहुत से शिल्पकारों को काम करते हुए देखा. ये देख कर मैं बहुत ही हैरान हो गया था.” 

2019 में मियाके ने न्यूयोर्क के ट्रिबेका स्टोर में एक प्रदर्शनी भी लगाई थी. जिसका नाम “खादी: भारतीय शिल्प कौशल” था. मियाके को भारत की कपड़े और उसकी विकास यात्रा बहुत पसंद थी. इसीलिए उन्होंने आंध्र-प्रदेश और तमिलनाडु में कपड़े विकसित किये. साथ ही 1955 में मियाके ने कपड़ों को नए तरीके से प्लीटिंग करने के आईडिया निकाला. जिसमे वो फ़ैब्रिक को कागज की परतों के बीच लपेटकर, उन पर हीट प्रेस लगाते थे. जिसके बाद उन्होंने उसके ऊपर कई टेस्ट भी करे. कुछ समय के बाद, उनके हस्ताक्षर “प्लीट्स प्लीज” लाइन फ़ेमस हो गई.(Japanese Designer Issey Miyake)

news.sky.com

उन्होंने ब्लैक यानि काले रंग को दुनिया में फ़ेमस कर दिया. साथ ही Apple कंपनी के संस्थापक स्टीव जॉब्स भी उनके “ब्लैक टर्टलनेक” के दीवाने हो गए थे. उनकी इसी मेहनत, क्रिएटिविटी और फ़ैशन सेंस ने NIFT (National Institute Of Fashion Technology) के कई छात्रों को प्रेरित भी किया है.