हज़ारों लोग अपने घर को छोड़कर अच्छी नौकरी या अच्छी शिक्षा की तलाश में बड़े-बड़े शहरों में बसते हैं. घर से दूर रहना आसान नहीं, न ही किसी स्कूली बच्चे के लिए और न ही किसी नौकरी पेशा के लिए.


घर के ऐशो-आराम के बीच, मां के हाथ का खाना सबसे ज़्यादा याद आता है. मां के हाथ का खाना एक तरफ़ और दुनिया के सभी लज़ीज़ खाने का स्वाद एक तरफ़.  

Source: Wats Cooking

अगर हम कहें कि मां के हाथ का खाना आप जब चाहें तब खा सकते हों तो?


कुछ ऐसा ही करने की कोशिश में लगा है Justmyroots. 

The News Minute के मुताबिक़, समिरन सेनगुप्ता अपने स्टार्टअप से लोगों की ज़िन्दगी में घर के खाने की कमी को पूरा करने की कोशिश में लगे हैं.  

समिरन Justmyroots को अपने Roots का हॉटलाइन कहते हैं. 

Source: Justmyroots

Justmyroots से आप अपने होमटाउन के किसी भी बाज़ार या रेस्टोरेंट से खाना मंगवा सकते हैं. बने-बनाये खाने से लेकर बेकरी के आइटम्स तक आप सबकुछ मंगवा सकते हैं.


ये स्टार्टअप 24 घंटे के अंदर घर का बना-बनाया खाना डिलीवर करने की गारंटी देती है. 

Direct From Home (DFH) सर्विस के लिए Justmyroots 299 रुपये प्रति किलोग्राम चार्ज करती है. पिकअप और हैंडलिंग चार्ज के रूप में 100 रुपये भी लगते हैं.  

फ़िलहाल ये सेवा दिल्ली-एनसीआर, कोलकाता, जयपुर, बेंगलुरू, चेन्नई, हैदराबाद, पुणे, मुंबई, अमृतसर और कश्मीर में उपलब्ध है. Justmyroots का दावा है कि उनके 10,000 से ज़्यादा कस्टमर्स हैं और उन्होंने अब तक 100,000 डिलिवरी की है. 


2019 के ख़त्म होने तक इस स्टार्टअप की 32 शहरों में फैलने की योजना है.