झीलों के अगल-बगल आपने ख़ूब पेड़-पौधे देखे होंगे. साहिल पर बैठकर शांति और सुकून के पल भी बिताए होंगे. मगर क्या कभी झील की जादूगरी देखी है? अगर हम कहें कि एक झील ऐसी है जिसमें पेड़ उलटे झील के अंदर बढ़ते हैं, तो यक़ीन होगा आपको?

Source: journalofnomads
Source: blogspot

इसी बात का यक़ीन दिलाने के लिए आज हम आपको कज़ाख़िस्तान के सबसे बड़े शहर, अलमाती से 80 मील दूर, Kaindy झील की जादूगरी से रू-ब-रू करा रहे हैं. तस्वीरों पर एक बार में यक़ीन करना थोड़ा मुश्किल होगा, लेकिन नामुक़िन नहीं.

Source: aboutkazakhstan

झील में अंदर की ओर बढ़ते पेड़ किसी अजूबे से कम नहीं हैं. इन पेड़ों की संख्या इतनी ज़्यादा है कि ये अब तक घने जंगलों का रूप ले चुके हैं. दरअसल, 1911 में आए भूकंप के चलते ऐसा हुआ, जब एक लैंडस्लाइड के बाद, पहाड़ का मुंह बंद हो गया और वहां एक प्राकृतिक डैम बन गया. इसके बाद, इतनी बारिश हुई कि पूरा एरिया बारिश के पानी में सराबोर हो गया. भले ही झील के बाहर पेड़ सूख गए, लेकिन जंगलों के पानी में डूब जाने से उनके बीज हरे-भरे रहे और इस चमत्कारी झील का रूप ले लिया.

Source: centralasiaheritage

ये झील समुद्र तल से लगभग 2,000 मीटर ऊपर स्थित है और इसका पानी बहुत ठंडा है. इस झील की ख़ूबसूरती को पास से देखने का अपना अलग ही मज़ा है. इसके आकर्षण का केंद्र फ़िरोज़ा पानी है, जिससे झील के अंदर तक का नज़ारा साफ़-साफ़ दिखाई देता है. ये झील सर्दियों के मौसम में जम जाती है. ये स्लेजिंग (बर्फ़ पर चलने वाली गाड़ी) और विंटर ट्रेक के लिए एक अच्छा विकल्प है.

Source: tracydeephotography

यहां के रास्ते ख़राब होने के चलते पर्यटकों के लिए यहां आना थोड़ा मुश्किल होता है. इस झील तक पहुंचने के लिए साधन भी पर्याप्त नहीं हैं. मगर एक बार यहां पहुंच गए तो जन्नत जैसे नज़ारे का दीदार होगा.

Source: travelandleisure
View this post on Instagram

Озеро Каинды. Это место находится недалеко от Алматы — в 130-ти км. Водоем достаточно глубокий — до 30 м. Глубина и холод — отличные условия для обитания форели. В одном из ущелий Кунгей Алатау в результате Кеминского землетрясения в 1911 году образовалось озеро. Оно не просто живописное, а исключительно красивое и необычное. Дело в том, что здесь под водой растут …ели. Озеро Каинды славится своим подводным хвойным лесом, поэтому, несмотря на температуру воды летом +6 ºС, — это место паломничества дайверов. Благодаря низкой температуре ели на дне сохранили свою первозданную красоту. Впечатление производят потрясающее. #Kazakhstan #Qazaqstan #KZ #KaindyLake #nature #lake #placesfortravel #Казахстан #КЗ #ОзероКаиынды #природа #озеро #Қазақстан #ҚЗ #табиғат #ҚайындыКөлі #көл

A post shared by placesfortravel (@placesfortravel) on

तस्वीरों के अलावा आप इस वीडियो में भी झील की ख़ूबसूरती को देख सकते हैं:

खो गए न झील की ख़ूबसूरती में, तो कब जा रहे हैं?