खिचड़ी घर का वो खाना, जिसे अक्सर हम बीमार होने पर खाते हैं. पेट खराब हो, बुखार हो या अन्य कोई भी बीमारी हो, खिचड़ी शरीर को ठीक करने के लिए सबसे बेस्ट खाना होता है. खिचड़ी में जिस तरह की सामग्री होती है, वो मदद करती है शरीर के अच्छे पाचन में. एक साधारण खिचड़ी, चावल, पीली दाल और हरी मूंग की दाल और घी से बनती है. कह सकते हैं कि जिस तरह से अमरीकियों के लिए चिकन सूप है, उसी तरह भारतीयों के लिए खिचड़ी है. खिचड़ी में ऐसे कई पोषक तत्व होते हैं, जो हमारे शरीर के लिए काफ़ी फ़ायदेमंद हैं.

सब्ज़ियों वाली खिचड़ी सबसे अच्छी

खिचड़ी एक परफ़ेक्ट कॉम्बिनेशन है क्राबोहाइड्रेट्स और प्रोटीन का. इसमें Amino Acids होते हैं जो कि टूटी हुई बॉडी को फिर से मज़बूत बनाने में मदद करते हैं. अच्छी प्रोटीन डाइट के लिए फ्रेश बनी खिचड़ी सबसे अच्छी होती है. वो इसलिए क्योंकि इसमें सही मात्रा में पोषक तत्व, क्राबोहाइड्रेट्स, प्रोटीन और फै़ट होता है. अगर खिचड़ी में आप सब्ज़ियों का इस्तेमाल करें, तो वो सोने पर सुहागे का काम करती है.

Khichadi
Source: Khushboo Patel

साथ ही खिचड़ी उन लोगों के लिए सबसे बेस्ट खाना है, जिन्हें आटा, जौ और राइ जैसी चीज़ों से एलर्जी है. बाकी अगर किसी तरह की कोई एलर्जी नहीं भी है, तो भी खिचड़ी वर्ल्ड बेस्ट फूड है.

बच्चों और बूढ़ों के लिए बेस्ट है खिचड़ी

खिचड़ी ऐसा खाना है, जिसे दिन में आप किसी भी टाइम खा सकते हैं. चाहे वो सुबह का नाश्ता हो, लंच हो या फिर डिनर. खिचड़ी तीनों टाइम के खाने के लिए बेस्ट है. खिचड़ी के अंदर इतने पोषक तत्व होते हैं कि वो शरीर के तीन दोष जैसे- पित्त, वात और कफ़ जैसी बीमारियों को आसानी से ठीक कर देते हैं. वैसे तो खिचड़ी सबके लिए फ़ायदेमंद होती है, लेकिन खिचड़ी सबसे ज़्यादा फ़ायदा करती है बच्चों और बूढ़ों का. वो इसलिए क्योंकि इन दोनों ही पड़ावों में मेटाबॉलिज़्म कम होता है और पचाने की शक्ति कम होती है. वहीं खिचड़ी आसानी से पच जाती है. इसलिए जम कर खिचड़ी खाओ, तुरंत पचाओ, सेहत बनाओ.