दुनिया कोरोना वायरस को हराने के लिए हर मुमकिन कोशिश करने में लगी हुई है. कोरोना वॉरियर्स भी दिन-रात लोगों की सलामती के लिए लड़ रहे हैं.

हम सब भी दिन-रात सुन रहे हैं कि कैसे हमको वायरस से बचने के लिए मास्क, ग्लव्स और अन्य चीज़ों पर ख़ासा ध्यान देने की ज़रूरत है. इसके साथ थी इनसे जुड़ी फ़ेक न्यूज़ और मिथक भी लोगों के बीच तेज़ी से फ़ैल रहे हैं.

आइए जानते हैं कि वो कौन-कौन से मिथक और तथ्य हैं, जिनको आपको जानने की बेहद ज़रूरत है.

मास्क

mask
Source: indiatoday

1. हर किसी को N95 या सर्जिकल मास्क की आवश्यकता नहीं है. ये मास्क केवल कोरोना वॉरियर्स के लिए ज़रूरी है.

2. हर मास्क को आप दोबारा इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं. सर्जिकल मास्क को एक उपयोग के बाद ही सावधानी से Dispose कर देना चाहिए. वहीं, कपड़े से बने मास्क को एक बार इस्तेमाल करने के बाद अच्छे से धोने के बाद ही दोबारा उपयोग में लाना चाहिए.

3. यदि आप बीमार हैं या वायरस के लक्षण हैं, तो अपने घर के अंदर मास्क पहनें, ताकि आपके घर में अन्य सदस्यों को संक्रमण न हो.

4. कपड़े से बने मास्क पतले न हों, मतलब कि या तो कई लेयर के हों या मोटे हों. इतने चौड़े हों जिससे मुंह, नाक और ठोड़ी अच्छे से ढक जाए.

5. डॉ. रोसाना रोसा के मुताबिक़, मास्क लगा लेने से पूरी सुरक्षा सुनिश्चित नहीं होती है. मास्क के साथ-साथ आपको सामाजिक दूरी का भी ध्यान रखना पड़ेगा.

6. वायरस की चपेट में आए कई लोग ऐसे भी हो सकते हैं जिनमें लक्षण न दिखाई दें, ऐसे में जब भी वो खासेंगे या छींकेंगे तो कोरोना फैलने का डर रहेगा. जिस कारण बाहर जाते समय मास्क पहनना बेहद ज़रूरी है.

7. केवल मास्क आपको सुरक्षित नहीं रखेगा. आपको अपनी आंखें और चेहरे को नहीं छूना है.

8. मास्क को ठीक से पहनना महत्वपूर्ण है जिससे कि मुंह और नाक अच्छे से ढके रहें. अपने लिए सही साइज़ का मास्क चुनें.

9. मास्क उतारने के बाद हाथ धोना मत भूलिएगा.

फ़ेस शील्ड्स (Face Shields)

face shields
Source: thehindu

1. डॉ. बेहराम पर्दीवाला, वॉकहार्ट अस्पताल, मुंबई के एक आंतरिक चिकित्सा विशेषज्ञ का कहना है कि जो गले का परीक्षण, वायरस संक्रमित रोगियों का सैंपल ले रहे हैं या ऐसे किसी भी प्रोफ़ेशन में हैं जहां उन्हें कोरोना वायरस संक्रमित लोगों के क़रीब रहना पड़ता है उन्हें ये फ़ेस शील्ड्स पहनने की ज़रूरत है. हेल्थकेयर वर्कर्स को सबसे ज़्यादा इसकी ज़रूरत है.

2. डॉ. पर्दीवाला के अनुसार पुलिस और दुकानदारों को फ़ेस शील्ड्स की आवश्यकता नहीं है क्योंकि वो 6 फ़ीट की दूरी बनाए रख सकते हैं.

ग्लव्स

gloves
Source: sfchronicle

1. Centers for Disease Control and Prevention (CDC), America के अनुसार, शॉपिंग करते वक़्त ग्लव्स पहनने से आप वायरस से नहीं बच सकते हैं.

2. यदि कोई दस्ताने का उपयोग कर रहा है, तो उन्हें ठीक से डिस्पोज़ करना बहुत ज़रूरी है. दस्ताने हटाने के बाद हाथ धोना बिलकुल न भूलें.

3. दस्ताने स्वास्थ्य कर्मियों के लिए महत्वपूर्ण हैं क्योंकि वो रोगियों के पास रहते हैं.

4. कई विशेषज्ञों का ये भी कहना है कि दस्ताने पहनें या न पहनें जब भी आप कोई चीज़ छूते हैं तो आप Microorganisms को इधर से उधर ट्रांसफ़र करते हैं.

5. दस्ताने हाथ धोने के महत्व को भी कम करते हैं.