2006 में एक फ़िल्म आयी थी जिसका नाम था रंग दे बसंती. फ़िल्म की कहानी कुछ दोस्तों के इर्द-गिर्द घूमती है जो सिस्टम से परेशान हैं और लड़ते हैं. इसी फ़िल्म का एक डायलॉग है, “कोई भी देश परफ़ेक्ट नहीं होता, उसे परफ़ेक्ट बनाना पड़ता है.” फ़िल्म की ये एक लाइन दुनिया के हर देश और उनके नागरिकों के लिए है जो होने देश को परफ़ेक्ट बनाना चाहते हैं. 

news18

Quora में किसी से पूछा कि आप अपने देश यानी भारत में कौन सी चीज़ बदलना चाहेंगे और क्यों? लोगों ने भी अपने मन की बात लिखनी शुरू कर दी. देखिये लोगों ने क्या कहा कि वो अपने देश में क्या बदलना चाहते हैं.

1. शिक्षा का स्तर:

Quora की यूज़र मुस्कान अग्रवाल लिखती हैं, “2011 की जनगणना के अनुसार, भारत की साक्षरता दर 74% है. जिसमें 82.14% पुरुषों की और 65.46% महिलाओं की साक्षरता दर है.” सच में इस पर सुधार की बहुत ज़रुरत है क्योंकि पढ़ाई-लिखाई से किसी के जीवन में, सोचने के तरीक़े में ज़मीन आसमान का अंतर आ जाता है और ये किसी से छुपा हुआ नहीं है.

wikimedia

2. शादी के ख़र्चे:

भारतीयों का शादी के प्रति लगाव किसी से छुपा नहीं है. हम लोग शादियों में बेवजह इतना पैसा ख़र्च कर देते हैं कि उसका हिसाब लगाना ही मुश्किल हो जाता है. ये पैसा महज़ दिखावे में ख़र्च होता है और कुछ नहीं. 

flickr

3. लोगों की सोच: 

एक यूज़र ने लिखा की लोगों की सोच बदलने की सख़्त ज़रुरत है. लोगों को अपनी दकियानूसी सोच से बाहर आने की ज़रूरत है. लोगों की मानसिकता दूषित हो चुकी है जिसके लिए बहुत ज़्यादा काम करना पड़ेगा पर हां, इसे बदलने की बहुत ज़रूरत है.

feminisminindia

4. सहिष्णुता का स्तर:

Quora के एक यूज़र लिखते हैं कि हमारे देश में सहिष्णुता यानी सहने की क्षमता कम है. हमारा देश विविधता का देश है ऐसे में विचारों में अंतर आना स्वाभाविक है लेकिन लोग बड़ी आसानी से किसी के द्वारा की गयी टिप्पणी से आहात हो जाते हैं और उनसे माफ़ी मांगने को कहते हैं या उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई करते हैं.

youthkiawaaz

5. ‘चलता है’ वाला Attitude 

हम इंडियंस कई कामों में अक्सर “चलता है” वाला Attitude रखते हैं, ये भले ही छोटा बदलाव लगे लेकिन ये बड़े-बड़े काम कर सकता है. जैसे सरकारी कामों में अक्सर बाबू लोग रिश्वत मांगते हैं लेकिन हम “चलता है” सोच के दे देते हैं. अगर सारे एकजुट होकर किसी ग़लत काम को मना करने लगे तो काफी चीज़ें सही हो सकती हैं.

snappygoat

6. ‘स्टार्स’ की पूजा करना:

हमारे देश में बॉलीवुड का अहम् योगदान है. हमारे देश में बॉलीवुड के सेलेब्स को पूजा जाता है. शाहरुख़ और अमिताभ बच्चन जैसी हस्तियों के घर के सामने हमेशा भीड़ जमा रहती है. फैन होना अपनी जगह है मगर किसी ‘स्टार’ के बाहर खड़े रहना और उसके हाथ हिलाकर अभिवादन का इंतज़ार करना पागलपन है. 

thequint

ये भी पढ़ें: इस टीवी शो में शादी के लिए चांद तोड़ने लगे दो आशिक़, इस सीन को देख बेमौत मारी गई साइंस

7. महिला सुरक्षा:

हमारे देश में महिलाओं की सुरक्षा की क्या स्थिति है ये किसी से छुपा नहीं है. एक यूज़र ने कहा कि सबसे पहले महिलाओं की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए क़दम उठाना चाहिए. 

flickr

8. एजुकेशन सिस्टम: 

लोगों ने शिक्षा के स्तर को बढ़ाये जाने की बात के साथ-साथ एजुकेशन सिस्टम को भी सही करने की बात बोली. बात पते की भी है कि अगर एजुकेशन सिस्टम सही नहीं रहा तो ज़्यादा लोगों को पढ़ा कर भी कोई फायदा होने वाला नहीं है, तो अगर हमें चाहिए कि लोग वाकई एजुकेटेड हों तो हमें अपने एजुकेशन सिस्टम बदल डालना चाहिए.

newint

ये तो रहे Quora पर दिए गए लोगों के उत्तर. आप बताइये आप अपने देश को परफ़ेक्ट बनाने के लिए आप क्या बदलना चाहेंगे.