मुंबई का वर्ल्ड फ़ेमस स्ट्रीट फ़ूड है पावभाजी. ये व्यंजन वहां के हर गली-नुक्कड़ पर आपको आसानी से खाने को मिल जाएगा. मक्खन में डूबे पाव और चटपटी भाजी का स्वाद ऐसा होता है कि इसे खाकर आप उंगलियां चाटते रह जाते हैं. इसके टेस्ट को शब्दों में बयां करना आसान नहीं है. जिन लोगों ने पावभाजी का स्वाद चखा होगा वो इस बात को भलीभांति जानते होंगे.

pav bhaji
Source: frustratedyouth

पावभाजी का इतिहास भी इसके स्वाद जितना ही चटपटा है. मज़े की बात ये है कि इसका संबंध अमेरिका से भी है. आइए आज इस टेस्टी डिश का इतिहास भी जान लेते हैं.

pav bhaji
Source: healthifyme

पावभाजी की खोज तब हुई जब अमेरिका में गृह युद्ध(1861-1865) के चलते कॉटन की मांग तेज़ी से बढ़ने लगी. इसलिए मुंबई की कपड़ा मिलों में दिन रात सूती के कपड़े का प्रोडक्शन होने लगा. बड़े पैमाने पर कपड़े का उत्पादन करने के चलते मज़दूरों को मिल्स में दिन-रात काम करना पड़ता था.

pav bhaji
Source: myyellowplate

इसलिए उनके पास खाना खाने लिए बहुत कम समय बचता था. मिल्स के बाहर खड़े स्ट्रीट फ़ूड वेंडर्स की कमाई भी इससे घटने लगी. उन्होंने वक़्त की नज़ाकत को समझते हुए एक नई डिश की खोज की. इसे उन्होंने कई तरह की सब्ज़ियों को टमाटर, आलू के बेस में मैश कर बनाया और पाव के साथ सर्व किया. ये खाने में बहुत टेस्टी थी और मज़दूर इसे खाकर तुरंत काम पर वापस लौट जाते थे.

pav bhaji
Source: thebetterindia

हल्का-फुल्का खाना खाने से उन्हें नींद भी नहीं आती थी. साथ ही इसके दाम भी कम थे. इस टेस्टी और स्पाईसी डिश का स्वाद लोगों को पसंद आने लगा. इस तरह वो धीरे-धीरे पूरे महाराष्ट्र और फिर उसके पूरे देश में फ़ेमस हो गई. अब ये देश के छोटे-बड़े रेस्टोरेंट से लेकर फ़ाइव स्टार होटल्स में भी सर्व की जाने लगी है.

pav bhaji
Source: instagram

अगर मुंबई की बेस्ट पावभाजी की बात की जाए, तो लोग सरदार जी की पावभाजी का नाम लेते हैं. ये मुंबई के तारदेव रोड के जंक्शन पर बना एक फ़ेमस रेस्टोरेंट है. यहां पर आपको अलग-अलग प्रकार की पावभाजी खाने को मिलेंगी. जैसे चीज़ पावभाजी, खड़ा पावभाजी, जैन पावभाजी आदि.

पावभाजी का ये इतिहास है न मज़ेदार?

Lifestyle से जुड़े दूसरे आर्टिकल पढ़ें ScoopWhoop हिंदी पर.