कॉलेज की डिग्री हमारे यहां बहुत मायने रखती है. चाहे नौकरी की बात हो रिश्ते की, डिग्री के बारे में बात न हो, ऐसा हो ही नहीं सकता. मगर दुनिया में कई ऐसी हस्तियां हुई हैं जिन्होंने बिना किसी डिग्री के ही सफ़लता के सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर डाले हैं. इन्होंने न सिर्फ़ अपने लिए ख़ूब पैसा कमाया है, बल्कि इनके कामों ने दुनिया को नई दिशा भी दी है.

चलिए जानते हैं उन लोगों के बारे में जिन्होंने बिना किसी डिग्री के दुनिया जीत ली: 

1. रितेश अग्रवाल, OYO रूम्स के CEO

सिर्फ़ 18 साल की उम्र में रितेश ने कॉलेज छोड़ कर बजट स्टे बुक करने के लिए एक पोर्टल, Oravel Stays शुरू किया था. यही आगे चलकर OYO Rooms बन गया, ये कंपनी आज करोड़ो का बिज़नेस कर रही है.

Source: Indiatimes

2. गौतम अडानी, अदानी समूह के चेयरमैन  

गौतम अडानी ने ये कंपनी अपने दम पर शुरू की थी.अपनी कॉमर्स की पढ़ाई बीच में छोड़कर ही बिज़नेस में उतर गए थे. 

Source: Indiatimes

3. बिल गेट्स, माइक्रोसॉफ़्ट के सह-संस्थापक 

बिल गेट्स दुनिया के सबसे अमीर और सबसे सफ़ल उद्यमियों में से एक हैं. उन्होंने 1973 में हॉवर्ड विश्वविद्यालय में दाख़िला लिया था, लेकिन दो साल बाद ही माइक्रोसॉफ्ट शुरू करने के लिए बिल गेट्स ने कॉलेज छोड़ दिया.

Source: Indiatimes

4. माइकल डेल, Dell Technologies के CEO

Michael S. Dell अमेरिका के ऑस्टिन में टेक्सास विश्वविद्यालय में पढ़ रहे थे जब उन्हें Personal Computer बनाने का ख़्याल आया. फ़र्स्ट ईयर में ही पढ़ाई छोड़कर उन्होंने PC's Limited नाम की कंपनी शुरू की. आगे चलकर इसी का नाम Dell Inc. हो गया, जो आज कंप्यूटर बेचने वाली एक बहुत बड़ी कंपनी है.

Source: Indiatimes

5. मार्क ज़ुकरबर्ग, Facebook के CEO

मार्क ज़ुकरबर्ग भी दुनिया के उन जाने-माने लोगों में से एक हैं जिन्होंने कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के बाद भी ज़बरदस्त सफ़लता पाई है. फ़ेसबुक चलाने पर ध्यान केंद्रित करने के लिए उन्होंने हॉवर्ड विश्वविद्यालय में अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी थी. उन्होंने अपने कॉलेज के हॉस्टल में ही फ़ेसबुक की शुरूआत की थी.

Source: Indiatimes

6. स्टीव जॉब्स, एप्पल के संस्थापक 

दुनिया के सबसे सफ़ल उद्यमियों और सबसे जाने-माने अरबपतियों में से एक स्वर्गीय स्टीव जॉब्स के भी पास कॉलेज डिग्री नहीं थी. जॉब्स दुनिया के लिए एक मिसाल हैं कि आपको एक बेहतरीन कंपनी शुरू करने के लिए कॉलेज की डिग्री की ज़रूरत नहीं होती है. Reed College में 6 महीने तक पढ़ने के उन्हें पढ़ाई छोड़ दी थी.]

Source: Indiatimes

7. जैक डोरसी, Twitter Inc. के CEO

जैक ने पहले मिसौरी यूनिवर्सिटी ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी से पढ़ाई की, फिर New York University में दाखिला लिया. जल्द ही उन्होंने ट्विटर शुरू करने के लिए कॉलेज को अलविदा कह दिया.

Source: Indiatimes

8. पॉल एलन, माइक्रोसॉफ़्ट के सह-संस्थापक

पॉल वाशिंगटन विश्वविद्यालय में पढ़ने गए थे लेकिन हनीवेल प्रोग्रामर बनने के लिए दो साल बाद पढ़ाई छोड़ दी. माइक्रोसॉफ़्ट की सफ़लता में उनकी अहम भूमिका थी. 15 अक्टूबर, 2018 को कैंसर के कारण उनका निधन हो गया.

Source: Indiatimes

9. लैरी एलिसन, ओरेकल कॉर्पोरेशन के सह-संस्थापक

लैरी ने अपनी मां की मौत के बाद UIUC (University of Illinois at Urbana-Champaign) को सेकंड ईयर में छोड़ दिया था. बाद में उन्होंने शिकागो विश्वविद्यालय में दाखिला लिया लेकिन सिर्फ़ एक सेमेस्टर के बाद उसे भी छोड़ दिया. 1977 में उन्होंने Bob Miner और Ed Oates के साथ मिलकर Oracle की शुरूआत की.

Source: Indiatimes

10. रिचर्ड ब्रैनसन, वर्जिन समूह के संस्थापक

बिना किसी डिग्री के ब्रैनसन दुनिया के सबसे प्रसिद्ध और सफ़ल लोगों में से एक हैं. उन्होंने जिस वर्जिन ब्रांड की नींव रखी थी उसे आज दुनिया भर में पहचान मिल चुकी है. ब्रैनसन डिस्लेक्सिया के साथ पैदा हुए थे और उनका स्कूली जीवन बहुत अच्छा नहीं बीता. युवावस्था में उन्होंने एक म्यूज़िक रिकॉर्ड कंपनी बनाने के लिए अपनी पढ़ाई छोड़ दी. लंदन की एक सड़क पर उन्होंने इसका पहला स्टोर खोला और नाम रखा वर्जिन. 

Source: Indiatimes

11. वॉल्ट डिज़नी, वॉल्ट डिज़नी कंपनी के सह-संस्थापक

आज दुनिया में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसने वॉल्ट डिज़नी के बनाए कार्टून या डिज़नी द्वारा बनाई गई फ़िल्म नहीं देखी होगी. वॉल्ट डिज़नी का जन्म 1901 में शिकागो में हुआ था. जब वो 16 साल के थे तो प्रथम विश्व युद्ध में लड़ने के लिए पढ़ाई बंद कर दी थी, हालांकि, नाबालिग होने के कारण उन्हें रिजेक्ट कर दिया गया था. 1923 में वे अपने भाई के साथ कार्टून बनाने का काम करने लगे और यूनिवर्सल पिक्चर के लिए एक सीरीज़ बनाई. बाद में उन्होंने मिकी माउस जैसे चरित्र बनाए. वो इस बात का स्पष्ट उदाहरण है कि कॉलेज की डिग्री सफ़लता की गारंटी नहीं होती है.

Source: Indiatimes

12. हेनरी फ़ोर्ड, फ़ोर्ड मोटर कंपनी के संस्थापक

हेनरी फ़ोर्ड ने 17 साल की उम्र में उन्होंने घर छोड़ दिया और एक साधारण कारपेंटर और मशीन मिस्त्री के रूप में काम करना शुरू किया. बाद में उन्होंने फ़ोर्ड मोटर्स कंपनी शुरू की और दुनिया के सबसे अमीर और सबसे प्रसिद्ध व्यक्तियों में से एक बन गए.

Source: Indiatimes

13. Jan Koum, Whatsapp के सह-संस्थापक

दुनिया में सबसे लोकप्रिय इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफ़ॉर्म्स में से एक, WhatsApp के संस्थापक Jan Koum ने भी अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी थी. San José State University में पढ़ते हुए उन्होंने प्रोग्रामिंग सीखना और Ernst & Young में काम करना शुरू कर दिया था. फिर Yahoo ने उन्हें नौकरी पर रख लिया और उन्होंने कॉलेज छोड़ दिया. आगे चलकर फ़ेसबुक और ट्विटर में नौकरी नहीं मिलने पर उन्होंने Whatsapp बनाया.

Source: Indiatimes

इन लोगों ने साबित कर दिया है कि अगर ठान लो तो दुनिया में कुछ मुश्किल नहीं है क्योंकि जहां चाह है, वहां राह भी है.