भारत (India) में समय-समय पर करेंसी (Currency) में बदलाव हुए हैं. मुग़लकाल से लेकर आज़ादी के बाद तक कई बार देश की करेंसी में बड़े बदलाव देखने को मिले हैं. भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) की स्थापना भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम, 1934 के प्रावधानों के अनुसार 1 अप्रैल, 1935 को हुई थी. आज RBI अधिनियम 1934 के तहत मुद्रा जारी करता है. जनवरी 1938 में रिजर्व बैंक द्वारा 5 रुपये का पहला नोट जारी किया गया था. जबकि फ़रवरी-जून 1938 में 10 रुपये, 100 रुपये, 1000 रुपये और 10,000 रुपये के नॉट जारी किये गये थे.

ये भी पढ़ें: 1 रुपये का सिक्का बनाने में 1.2 रुपये खर्च होते हैं, जानिए घाटे के बावजूद इसे क्यों बनाया जाता है

रोजाना के लेनदेन में आपके सामने से कई करेंसी नोट गुजरते होंगे, लेकिन क्या आपने कभी ये नोटिस किया है कि इन नोटों के ऊपर आख़िर किसकी और कहां की तस्वीर छपी होती है. अगर आप अब तक इन बातों से अनजान हैं तो हम आज आपको सभी भारतीय करेंसी नोटों के ऊपर छपे हुए चित्रों के बारे में बताने जा रहे हैं. 

1- 1 रुपये का नोट

1 रुपये का नोट भारतीय करेंसी का सबसे छोटा नोट है. RBI द्वारा जारी इस नोट पर देश के वित्त सचिव के साइन होते हैं. वर्तमान में 1 रुपये के नोट पर Sagar Samrat oil rig की तस्वीर बनी होती है. 1 रुपये के पहले नोट का मुद्रण पहली बार 30 नवंबर, 1917 को हुआ था. उस नोट पर किंग जॉर्ज पंचम की तस्वीर होती थी. सन 1926 में इस नोट की छपाई बंद हो गई थी. इसे सन 1940 में फिर से शुरू किया गया. साल 1994 में फिर से 1 रुपये के नोट की छपाई बंद कर दी गई. इसके साल 2015 में इसकी छपाई फिर से की गई. 

marudhararts

2- 2 रुपये का नोट

2 रुपये के नोट के ऊपर भारत के पहले उपग्रह आर्यभट्ट की तस्वीर छपी होती है. आर्यभट्ट भारत का पहला उपग्रह था और इसका नाम प्राचीन समय के भारतीय खगोलशास्त्री ‘आर्यभट्ट’ के नाम पर रखा गया था. इसे 19 अप्रैल, 1975 को ISRO द्वारा Kosmos-3M लॉन्च वाहन का उपयोग करके रशियन रॉकेट लॉन्च और विकास स्थल Kapustin Yar से लॉन्च किया था.

collectorbazar

3- 5 रुपये का नोट

आज़ाद भारत की बात करें तो 5 रुपये के नोट पर 3, 4 और 6 हिरण/बारहसिंगे का चित्र मिलेगा. बाद में महात्मा गांधी का पुस्तक पढ़ते हुए चित्र वाले नोट भी जारी किये गए थे. वर्तमान में 5 रुपये के जो नोट चलन में हैं वो एग्रीकल्चर सीरीज़ के नोट हैं, जिनके ऊपर ट्रेक्टर से खेत जोतता किसान मिलेगा. 

wikimedia

4- 10 रुपये का नोट 

10 रुपये के नोट पर कोणार्क के सूर्य मंदिर (Konark Sun Temple) की तस्वीर अंकित है. ओडिशा के पुरी ज़िले में स्थित ‘कोणार्क’ पुरी शहर से 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है.कोणार्क शब्द, ‘कोण’ और ‘अर्क’ शब्दों से मिलकर बना है. अर्क का मतलब ‘सूर्य’ होता है  जबकि ‘कोण’ से अभिप्राय कोने या किनारे से है.

ndtv

5- 20 रुपये का नोट 

अगर जब आप 20 रुपये के नए नोट को गौर से देखेंगे तो आपको इसके ऊपर एलोरा की गुफ़ाओं (Ellora caves) की तस्वीर छपी मिलेगी. महाराष्ट्र के सांभाजी नगर ज़िले में स्थित ये गुफ़ाएं ‘यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज’ में शामिल हैं. एलोरा की गुफ़ाएं महाराष्ट्र के औरंगाबाद से 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं.  भारतीय पाषाण शिल्प स्थापत्य कला का सार एलोरा में 34 गुफ़ाएं हैं.

pinterest

ये भी पढ़ें- RBI हमसे पुराने कटे-फटे नोट लेकर उनका क्या करता है, जानिये पूरी जानकारी

6- 50 रुपये का नोट 

50 रुपये के नए नोट के पीछे हम्पी मंदिर (Hampi Temple) का चित्र अंकित है. ‘हम्पी मंदिर’ कर्नाटक की तुंगभद्रा नदी के दक्षिण तट पर स्थित है. हम्पी (Hampi) कर्नाटक का एक प्राचीन गांव है. ये विजयनगर साम्राज्य के कई खंडहर मंदिर परिसरों से युक्त है. वहीं 50 रुपये के पुराने नोटों पर ‘भारतीय संसद भवन’ की तस्वीर छपी होती है. 

7- 100 रुपये का नोट 

RBI द्वारा जुलाई 2018 में जारी 100 रुपये के नए नोट के ऊपर गुजरात के पाटन में स्थित विश्व प्रसिद्ध बावड़ी रानी की वाव (Rani Ki Vav) का चित्र अंकित है. इसे 22 जून, 2014 को यूनेस्को ने ‘विश्व विरासत स्थल’ में शामिल किया था. इतिहासकारों के मुताबिक़, 1063 ईस्वी में सोलंकी राजवंश के राजा भीमदेव प्रथम की स्मृति में उनकी पत्नी रानी उदयामति ने ‘रानी की वाव’ का निर्माण कराया था. 

Paisaboltahai

8- 200 रुपये का नोट 

200 रुपये के नए नोट के पीछे सांची का स्तूप (Sanchi Stupa) अंकित है. सांची का स्तूप मध्यप्रदेश के रायसेन ज़िले में स्थित है.  यूनेस्को विश्व विरासत स्थल’ में शामिल ये भारत के प्राचीनतम पत्थर स्ट्रक्चर में से एक है. इसकी ऊंचाई 54 फ़ीट है. इतिहासकारों के मुताबिक़, ‘सांची का स्तूप’ का निर्माण सम्राट अशोक के कार्यकाल में हुआ था. 

economictimes

9- 500 रुपये का नोट 

500 रुपये के नए नोट के पीछे भारत के प्रसिद्ध स्मारक लाल क़िले (Red Fort) की तस्वीर छपी हुई है. इसके पीछे की कहानी भारत के प्रधानमंत्री हर साल स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल क़िले पर ध्वज फहराते हैं. साथ ही वे लाल क़िले की प्राचीर से देश की जनता को संबोधित भी करते हैं. 

paisaboltahai

10- 2000 रुपये का नोट

वर्तमान में 2000 रुपये का नोट भारतीय करेंसी का सबसे बड़ा नोट है.  2000 रुपये के नए नोट के पीछे मंगलयान (Mangalyaan) की तस्वीर छपी हुई है. 24 सिंतबर, 2014 में अपने पहले ही प्रयास में 67 करोड़ किमी का सफ़र तय करके भारतीय मंगलयान ने मंगल ग्रह की कक्षा में प्रवेश किया था. इसका नाम ‘मार्स ऑर्बिटर मिशन’ यानी MOM था. भारत ने इस मिशन पर क़रीब 450 करोड़ रुपये खर्च किए थे. भारत एशिया का पहला देश है जिसने मंगल पर सफलता प्राप्त की है. 

twitter

ये भी पढ़ें- ‘मैं धारक को…रुपये अदा करने का वचन देता हूं’ जानिए भारतीय करेंसी नोट पर ये क्यों लिखा होता है?