पोहा-जलेबी की जय के साथ शुरू करते हैं अहिल्यानगरी की कहानी का एक और चैप्टर.


तो नमकीन के बिना जहां का खाना अधूरा हो, उस इंदौर की कहानियों की श्रृंखला में आज हम लेकर आये हैं एक और कहानी. इंदौर में घूमने-फिरने की कई जगहें हैं, खाने-पीने के लिए एक से एक बढ़िया चीज़ें हैं लेकिन ये विशेषता सिर्फ़ इंदौर तक ही सीमित नहीं है.

इंदौर के आस-पास भी ऐसी कई जगहें हैं जहां जाकर आपको न सिर्फ़ सुकून मिलेगा बल्कि आप को ख़ुद के साथ भी ज़रा वक़्त मिलेगा.

सिर्फ़ 100 किलोमीटर की दूरी पर हैं ये 10 जगहें, चक्कर मार आइए-

1. तिंचा फ़ॉल 

Source: Pinterest

इस फ़ॉल का नाम 'तिंचा गांव' के नाम पर पड़ा है. हरियाली के बीच लगभग 300 फ़ीट से पानी को गिरता हुआ देखकर आपको लगेगा, मानो वक़्त ठहर गया हो. मॉनसून में यहां की ख़ूबसूरती बढ़ जाती है. ये इंदौर से 24 किलोमीटर की दूरी पर है.

2. चोरल डैम

Source: Trip Advisor

इंदौर से कुछ ही दूरी पर है ये छिपा खज़ाना. नर्मदा नदी के बैकवाटर्स से बना है चोरल डैम. हरे-भरे पेड़ों से घिरी ये जगह एक रोमैंटिक डेट के लिए बहुत ही सही लोकेशन है.इंदौर से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर है ये डैम.

3. जाम गेट 

Source: Instagram

पहाड़ी पर स्थित ये एक पुराने ज़माने का गेट है जो अपने स्थापत्य कला के लिए मशहूर है. इंसानों द्वारा बनाए गए इस दरवाज़े के आस-पास प्रकृति का अनुपम सौंदर्य है. यहां तक की ड्राइव ही एक अलग अनुभव होगा क्योंकि यहां तक का रास्ता भी ख़ूबसूरती से सराबोर है. ये गेट इंदौर से लगभग 52 किलोमीटर की दूरी पर है.

4. जहाज़ महल

ये जहाज़ महल मांडू में स्थित है. यहां का आर्किटेक्चर किसी को भी अपनी ओर खींच लेगा. हालांकि, कुछ लोग इस जगह को भूतिया भी कह देते हैं, ख़ैर कहानियां कहने वाले तो काफ़ी कुछ कहते हैं.

5. कमल झील, गुलावट

Source: Indore Talk

इंदौर के पास है एक गांव, नाम है गुलावट. यहां सूर्यास्त के बाद, कन्याकुमारी जैसा नज़ारा दिखता है. यहां आपको रोज़ की भाग-दौड़ से राहत और प्रकृति का स्पर्श मिलेगा. ये इंदौर से 25 किलोमीटर की दूरी पर है. 

6. पाताल पानी

Source: Holidify

जंगलों के बीच है ये झरना. कहा जाता है कि इस झरने का पानी पाताल तक पहुंचता है, क्योंकि ये काफ़ी गहरा है. एक दिन के पिकनिक पर जाने के लिए बेस्ट है ये जगह. ये इंदौर से लगभग 33 किलोमीटर की दूरी पर है.

7. जानापाव हिल

Source: Wikipedia

ये मालवा पठार का दूसरा सबसे ऊंचा स्थान है. प्रकृति प्रेमी और ट्रेकिंग के शौक़ीनों के लिए ये जगह जन्नत से कम नहीं है. कहा जाता है कि यहीं परशुराम का जन्म हुआ था. पहाड़ की चोटी तक ट्रेकिंग भी कर सकते हैं, एक बार पहाड़ की चढ़ाई कर ली तो जो नज़ारा दिखेगा वो भूल नहीं पाओगे. इंदौर से ये स्थान लगभग 45 किलोमीटर दूर है.

8. चिड़िया भड़क फ़ॉल

Source: Indore HD

इंदौर से कुछ ही दूर पर है ये वॉटरफ़ॉल. मानसून में इस वॉटरफ़ॉल की ख़ूबसूरती कई गुना बढ़ जाती है. ट्रेकर्स और प्रकृति प्रेमी दोनों को ही ये जगह बेहद पंसद आयेगी. ये इंदौर से लगभग 55 किलोमीटर दूर है.

9. नर्मदा घाट, माहेश्वर 

नर्मदा के तट पर बसा है माहेश्वर. 18वीं शताब्दी में रानी अहिल्याबाई होल्कर ने इसका निर्माण करवाया था. यहां आप सूर्यास्त का अनुपम नज़ारा देख सकते हैं. यहां की वास्तुकला देखकर सिर अपने आप सम्मान में झुक जाता है. ये जगह इंदौर से लगभग 96 किलोमीटर की दूरी पर है. 

10. अहिल्या क़िला, माहेश्वर

Source: YouTube

'अहिल्या क़िला' में महारानी अहिल्या बाई होल्कर रहती थीं. नर्मदा नदी के तट के पास ही ये क़िला. इस क़िले को अब एक हेरिटेज होटल में बदल दिया गया है. ऐतिहासिक इमारतों के शौक़ीन हों या न हों ये जगह हर किसी को अपनी ओर आकर्षित करेगी. ये जगह इंदौर से लगभग 97 किलोमीटर की दूरी पर है. 

पेशकश कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में बताइए.