हवाई जहाज़ में सफर करना Middle Class के लिए आज भी Luxury माना जाता है, लेकिन लम्बी दूरी पर जल्दी पहुंचना हो तो एयरप्लेन से बेहतर कुछ है भी नहीं. हवाई सफर में समय तो बचता ही है साथ में Comfort भी मिलता है.

आज-कल की फ़्लाइट्स में सुरक्षा, चकाचौंध कर देने वाली रौशनी, Entertainment के लिए लगी बड़ी-बड़ी Screens, बैठने के लिए आरामदायक Seats होती हैं. लेकिन क्या आपने सोचा है कि पुराने समय का हवाई सफर कैसे होता होगा. 

Source: pixabay

आपको बता दें की उस समय का हवाई सफर आज की तुलना में कई मामलों में ज़्यादा आरामदायक होता था. आपको यकीन नहीं होता तो देखिये ये 15 तस्वीरें.

ये भी पढ़ें: हवाई जहाज़ के अंदर की इन 35 तस्वीरों को देखने के बाद आपको भारतीय रेल अच्छी लगने लगेगी

1. शुरूआती दौर के जहाज़

Source: century-of-flight

1920 के दशक में हवाई यात्रा शुरू हुई थी. इस दौरान इन Planes का इस्तेमाल डाक लाने और ले जाने के लिए किया जाता था. इस दौरान जहाज़ों को तेल के लिए बहुत रुकना पड़ता था और सिर्फ़ दिन में ही उड़ान भरी जा सकती थी.

Source: insider

1930 के दशक में इनमें सुधार होना शुरू हुआ. इससे पहले के जहाज़ों में बनावट के चलते ज़्यादा शोर-शराबा हुआ करता था मगर अब धीरे धीरे जहाज़ सुविधाजनक बनने लगे थे. अब जहाज़ों में Cabin भी आने लगे थे.

Source: insider

1930 के दशक में जहाज़ों में Female Flight Attendants की शुरुआत हुई. इन्हें Stewardesses कहा जाता था. इनका काम Flight में बैठे लोगों को सभी प्रकार की सुविधा मुहैया कराना था.

Source: businesstraveller

अब के जहाज़ पहले की तुलना में ज़्यादा मज़बूत, ज़्यादा आरामदायक होते थे. साथ ही ये जहाज़  20,000 फ़ीट की ऊंचाई तक उड़ान भर पाने में सक्षम थे. देखिये कैसे होते थे 1930 के दशक के जहाज़:

Source: thesun
Source: thesun
Source: thesun

1940 के दशक में हुए विश्व युद्ध ने काफी कुछ बदल दिया. अब तक जहाज़ों का इस्तेमाल युद्ध में किया जाता था. जब 2nd World War ख़त्म हुआ तो अमेरिका और यूरोप के पास बहुत सारे विमान और लम्बे Runways थे, जिनका इस्तेमाल अब कमर्शियल उड़ानों के लिए किया जाने लगा और New York और London जैसे शहरों के बीच विमानों की रोज़ की आवाजाही शुरू हो गयी.

Source: wired
Source: wired
Source: wired

1950 और 1960 के दशक में हवाई उड़ान ने बहुत ज़्यादा बदलाव देखे. ये दौर था जब उड़ान वाकई में बदल रही थी. इस दौरान हवाई-जहाज़ में उड़ने को शान-ओ-शौकत वाली बात माना जाता था. विमान पहले की तुलना में बड़े, आरामदायक और सुरक्षित हो चुके थे

Source: businessinsider
Source: businessinsider
Source: businessinsider
Source: businessinsider
Source: rarehistoricalphotos
Source: rarehistoricalphotos

1970 के दशक में उड़ने के तरीके में बहुत बदलाव आये. 1973 में सुरक्षा जांच अनिवार्य हो गयी. 1980 के दशक में उड़ान में 'Fun' भी शामिल हो गया. इस वक़्त आप प्लेन में सिगरेट भी पी सकते थे. Continental Airlines (अब United Airlines) ने अपने जहाज़ों में Pub भी बनाया था. इस वक़्त Passengers उड़ान में बीच में Cockpit में भी जा सकते थे.

Source: usatoday
Source: reddit
Source: reddit
Source: traveller
Source: insider

ये भी पढ़ें: सफ़ेद हवाई जहाज़ तो देखा ही होगा, पर क्या ड्रैगन, ग्लेशियर, Kitty थीम वाले हवाई जहाज़ देखे हैं?

उड़ान में मिलने वाला आज का अनुभव 1990 के दशक में शुरू हो गया था. Flight के अंदर ही Entertainment के कई साधन मिलने लगे थे. वहीं बात करें 2000 के दशक की तो साल 2001 में अमेरिका में हुए 9/11 हमले की वजह से दुनिया के Airports की Security बहुत सख़्त कर दी गयी. Cockpit के दरवाजे हमेशा बंद रहने लगे और सिर्फ़ टिकट लिए हुए लोगों को ही Airport के अंदर जाने की अनुमति मिलने लगी.

Source: businessinsider
Source: businessinsider

बात करें आज की Flights की तो पहले की तुलना में आज काफी चीज़ें नहीं हैं- जैसे आप सो नहीं सकते, पैर फैला कर बैठ नहीं सकते. लेकिन वहीं फ़ोन चार्ज करने की सुविधा और Touchscreen जैसी टेक्नोलॉजी आपको मिल जाती हैं. 

बाकी चीज़ें इस बात पर भी निर्भर करती हैं कि आप किस Class के टिकट पर सफर कर रहे हैं.

Source: businessinsider

पुराने समय में मिलने वाली वो कौन सी एक सुविधा है जो आप आज की हवाई यात्रा में चाहेंगे, हमें कमेंट करके ज़रूर बताइयेगा.