हिंदी भाषा में मुहावरों का इस्तेमाल भी किया जाता है. ये भाषा को ख़ूबसूरत बनाने का काम करते हैं. वहीं, कुछ मुहावरे ऐसे होते हैं, जिनके पीछे की कहानी या जिसका सही मतलब बहुत लोगों को पता नहीं होता. अब ज़रा 'रत्ती भर' मुहावरे को ही ले लीजिए. बहुत लोगों को 'रत्ती' के बारे में पता नहीं होगा. कोई नहीं, हम आपको अपने इस लेख में 'रत्ती' के विषय में भी जानकारी देंगे और बताएंगे इसकी ख़ासियत.    

रत्ती के दाने   

ratti seeds
Source: bangaloremirror

इस तस्वीर में आप जिन काले और लाल छोटे-छोटे दानों को देख रहे हैं, इन्हें ही रत्ती के दाने कहा जाता है. इन्हीं दानों से ही निकला है ‘रत्ती भर’ मुहावरा. है न दिलचस्प! रत्ती का पेड़ होता है, जिस पर ये छोटे-छोटे मोती समान दाने निकलते हैं.   

पक कर झड़ जाते हैं   

ratti seeds
Source: twitter

इसे ‘गूंजा’ के नाम से भी जाना जाता है. अगर आप रत्ती के पेड़ को देखेंगे, तो पेड़ से लटकती हुई फलियां नज़र आ जाएंगी, जिन के अंदर ये छोटे-छोटे खूबसूरत दाने होते हैं. जानकारी के अनुसार, ये ज्यादातर पहाड़ी इलाक़ों में पाए जाते हैं. जब ये बीज पक जाते हैं, तो अपने आप पेड़ से झड़ने लगते हैं.   

मापा जाता था सोना   

gold
Source: news18

पुराने ज़माने में आज की तरह वस्तु को तोलने के लिए आधुनिक मशीनें नहीं थीं. लेकिन, सोने का चलन उसी वक्त भी था और सोने को मापने के लिए इन्हीं रत्ती के दानों का इस्तेमाल किया जाता था. आज भी कई जगह सोने को मापने के लिए रत्ती का इस्तेमाल किया जाता है.  

क्यों इस्तेमाल किया जाता था सोना मापने के लिए?   

gold making
Source: wsj

आपके जे़हन में यह सवाल आ सकता है कि सोना मापने के लिए इन्हीं बीजों का इस्तेमाल क्यों किया जाता था? तो इसका जवाब यह है कि इन बीजों का वज़न हमेशा एक बराबर ही रहता है. यही वजह है कि इन्हें सोना मापने के लिए सोनार इनका इस्तेमाल किया करते थे. जानकारी के लिए बता दें कि 1 रत्ती का दाना लगभग 0.121497 ग्राम का होता है.   

मौजूद होते हैं कुछ औषधीय गुण   

ratti seeds medicinal properties
Source: health

माना जाता है कि रत्ती के पत्ते चबाने से मुंह के छाले ठीक हो सकते हैं. वहीं, इसकी जड़ का भी इस्तेमाल भी कई शारीरिक समस्याओं के लिए किया जाता है. कई जगहों में ब्रोंकाइटिस और हेपेटाइटिस के घरेलू नुस्ख़े के रूप में रत्ती की जड़ के काढ़े का इस्तेमाल किया जाता है. वहीं, कई जगहों पर रत्ती का इस्तेमाल सांप के काटे के लिए भी किया जाता है.   

ratti seeds
Source: shubhgems

इसके अलावा, झड़ते बालों की समस्या को रोकने के लिए तिल के तेल में रत्ती के बीजों के चूर्ण के उपयोग का भी जिक्र मिलता है. हालांकि, स्वास्थ्य के लिए किसी भी तरह से रत्ती का उपयोग करने से पहले डॉक्टरी सलाह जरूर लें.