जब से कोरोना वायरस ने जीवन में दस्तक़ दी है, तब से घरों से लेकर दफ़्तर तक हर जगह सेनिटाइज़र हमारे जीवन में शामिल हो गया है. जो लोग बार-बार हाथ धोने से कतराते थे वो भी अब दिन में 50 बार हाथ धो रहे हैं. (शाबाश!) 

अब ये तो हम जानते ही हैं कि कोरोना वायरस से बचने के लिए हमें 20 सेकंड के लिए अच्छे से अपना हाथ साबुन से कैसे धोना है.   

मगर एक नई स्टडी के अनुसार, सेनिटाइज़र को हमें अपने हाथ पर 30 सेकंड के लिए अच्छे से लगाना चाहिए ताकि वायरस के ख़िलाफ़ उसका प्रभाव ज़्यादा हो. 

hand sanitiser
Source: foodbusinessnews

रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्रों द्वारा उभरते संक्रामक रोगों में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार इस बात का पता चला है.  

इस अध्ययन में वैज्ञानिकों ने दो तरह के सेनिटाइज़र के फ़ॉर्मूले का इस्तेमाल किया: पहला 80% एथनॉल 75% Isopropyl Alcohol. हालांकि, इन दोनों ही तरह के सेनिटाइज़र से वायरस पूरी तरह से ख़त्म हो गया था.  

हालांकि, शोधकर्ता उस तरीक़े की तरफ़ हमारा ध्यान खींचना चाहते हैं जिससे वायरस पूरी तरह से नष्ट हो जाए. इसका मतलब सेनिटाइज़र को अच्छे से हमें अपने हाथ पर 30 सेकंड तक रगड़ने की ज़रूरत है. 

sanitizer
Source: indiatimes

इस स्टडी से जुड़ी Ms Kratzel का कहना है,  

इस अध्ययन का एक कैविट ठीक 30 सेकंड में वायरस को निष्क्रिय कर देता है, जिसकी सलाह दी जाती है लेकिन नियमित रूप से इसका अभ्यास नहीं किया जाता है. वायरल ट्रांसमिशन को कम करने और वर्तमान SARS-CoV-2 प्रकोप में वायरस निष्क्रियता को कम करने के लिए हमारे निष्कर्ष महत्वपूर्ण हैं. 

 ऐसा करने से न केवल हम कोरोना वायरस से बल्कि अन्य वायरसों से भी बच सकते हैं.