सदियों से हम ऐतिहासिक स्थलों और स्मारकों के बारे में सुनते-पढ़ते आ रहे हैं. पर कहते हैं न कि जितना भी पढ़ो-जानों कुछ न कुछ रह ही जाता है. हमसे भी रह गया था. जब पता चला, तो सोचा आपसे भी शेयर किया जाये. बात ऐसी है कि देश-दुनिया के कई ऐसे ऐतिहासिक स्थल हैं, जिनमें एक सीक्रेट कमरा बना हुआ है. ख़ास बात ये है कि हर साल इन जगहों पर जाने वाले लोगों को भी सीक्रेट रूम की जानकारी नहीं होती.

Historic Landmarks पर रहस्मयी कमरे क्यों बनाये जाते हैं. इस राज़ से पर्दा आर्टिकल के अंत में उठायेंगे, लेकिन उससे पहले सदियों से सीक्रेट बने हुए इन सीक्रेट Room के बारे में जानिये.

ये भी पढ़ें: 15 जगहों की पहले और अब की ये तस्वीरें बता रही हैं कि वक़्त के साथ ये जगहें कितनी बदल चुकी हैं 

1. एफ़िल टॉवर 

एफ़िल टॉवर एक अनोखी वास्तुकला का प्रतीक है, जो कि 31 मार्च, 1889 में बन कर तैयार हुआ था. हर साल एफ़िल टॉवर में लाखों सैलानी घूमने जाते हैं, लेकिन किसी की भी नज़र टॉवर के टॉप पर बने अपार्टमेंट पर नहीं गई होगी. कुछ सालों तक ये अपार्टमेंट लोगों के लिये सीक्रेट था, लेकिन कुछ समय पहले ये जनता के लिये खोल दिया गया है.

एफ़िल टॉवर
Source: architecturaldigest

1. ब्रुकलिन ब्रिज 

1883 में न्यूयॉर्क से लांग आईलैंड को जोड़ने वाले इस भव्य पुल को बनाने की पेशकश हुई थी. पुल बनाने का आईडिया जॉन रॉबलिंग नामक इंजीनियर का था. भव्य पुल को बनने में 13 साल का समय, जो कि रॉबलिंग के बेटे वॉशिंगटन और उसकी पत्नी ने मिल कर पूरा किया था. दो द्वीपों को जोड़ने वाले ब्रिज पर एक सीक्रेट रूम है, जिसके बारे में शायद आपको पता हो.  

ब्रुकलिन ब्रिज
Source: 6sqft

3. पेरिस कैटाकॉम्ब 

2004 में फ़्रांसीसी अधिकारियों द्वारा दावा किया गया था कि पेरिस कैटाकॉम्ब के नीचे एक छोटा सा रेस्टोरेंट और मूवी हॉल बना हुआ था. 

पेरिस कैटाकॉम्ब
Source: redd

4. न्यूयॉर्क पब्लिक लाइब्रेरी  

न्यूयॉर्क की कुछ पब्लिक लाइब्रेरी ऐसी थी, जिनकी देख-रेख करने वालों के लिये उसमें अपार्टमेंट बनाये गये, जिसे 1970 से उपयोग में नहीं लाया गया. इसलिये वजह से 2016 से इनके नवीनीकरण का काम शुरू हो चुका है.  

न्यूयॉर्क पब्लिक लाइब्रेरी
Source: 6sqft

5. हॉल ऑफ़ रिकॉर्ड्स 

1927 में Mount Rushmore का निर्माण शुरू किया गया था, जिसके बाद बोरग्लम ने 1938 में हॉल ऑफ़ रिकॉर्ड्स का निर्माण शुरू करा दिया. कहते हैं कि 1938 में हॉल ऑफ़ रिकॉर्ड्स के निर्माणकार्य को रुकवा दिया गया था, जिस कारण ये अधूरा रह गया. 

हॉल ऑफ़ रिकॉर्ड्स
Source: nps

6. ट्राफ़लगर स्क्वायर 

कहा जाता है कि 1926 में ब्रिटेन में कई श्रमिक हड़ताल पर चले गये थे. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर नज़र रखने के लिये ट्राफ़लगर स्क्वायर के पास एक छोटा सा पुलिस स्टेशन बनाया. जिसे वर्तमान में Custodial स्टोरेज के रूप में यूज़ किया जाता है. 

ट्राफ़लगर स्क्वायर
Source: londonist

7. लिंकन मेमोरियल 

लिंकन मेमोरियल के नीचे एक 43,800 वर्ग फु़ट की तिजोरी है, जिसे अंडरक्रॉफ़्ट कहा जाता है. 

Source: ghostsofdc

8. एम्पायर स्टेट बिल्डिंग 

आधिकारिक तौर पर सबको ऐसा लगता है कि एम्पायर स्टेट बिल्डिंग में 102 मंज़िल हैं, लेकिन सच ये नहीं है. हकीक़त में इसमें 103 मंज़िल हैं, जो कि सेलिब्रिटीज़ के लिये है. 

एम्पायर स्टेट बिल्डिंग
Source: unsplash

9. स्टेच्यू ऑफ़ लिबर्टी 

स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी के बारे में हर किसी ने सुना और पढ़ा है, लेकिन जानते हैं कि उसकी मिशाल में एक कमरा था, जिसे 1916 में जनता के लिये बंद कर दिया गया.  

स्टेच्यू ऑफ़ लिबर्टी
Source: hearstapps

10. सुप्रीम कोर्ट 

U.S सुप्रीम कोर्ट की इमारत में वास्तव में बास्केटबॉल कोर्ट है, जिसकी जानकारी आज भी कम ही लोगों को है. बास्केटबॉल कोर्ट में जज योगा से लेकर गेम तक खेल सकते हैं. 

सुप्रीम कोर्ट
Source: twistedsifter

जैसे कि हमने ऊपर वादा किया था कि आपको आर्टिकल के अंत में बतायेंगे कि ऐतिहासिक स्मारकों और स्थलों पर सीक्रेट रूम क्यों हैं. दरअसल, ये सीक्रेट रूम किसी ख़ास वजह से नहीं बनाये गये हैं. ये सीक्रेट रूम मनोरंज और ज़रूरी रिकॉर्ड रखने के लिये बनाये जाते हैं. अगर इसके आगे भी कुछ जानकारी मिलेगी, तो आपसे ज़रूर शेयर करेंगे.