Interesting Facts: मकड़ियों के बीच यौन संबंध बनते हैं, लेकिन नर मकड़ियां सेक्स ख़त्म होते ही भागने की तैयारी में रहती हैं. सेक्स ख़त्म होते ही वे छलांग मारकर दूर हटती हैं क्योंकि उन्हें ख़तरा होता है कि मादा मकड़ी उन्हें जान से मारकर खा जाएगी.  

करंट बायोलॉजी नामक मैगज़ीन में छपे एक स्टडी में, पहली बार इन संबंधों की जटिलता को विस्तार से समझाया गया है. शोधकर्ताओं ने लिखा है कि नर मकड़ियां (Interesting Facts about Spider) अपनी अगली टांगों का इस्तेमाल करके सेकंड से भी कम समय में बहुत ज़ोर से उछलती हैं.  

ये भी पढ़ें:- चीन में मिले इस मकड़े को सब Spider-Man बोल रहे हैं, इसके काटने से क्या होगा अभी पता नहीं चला है!

Interesting Facts

सैकड़ों मकड़ियों पर अध्ययन  

burkemuseum

मुख्य शोधकर्ता शिचांग जांग वुहान की हूबेई यूनिवर्सिटी में पढ़ाते है. वो बताते हैं कि, शोध के लिए उन्होंने हाई स्पीड कैमरे लगाकर मकड़ियों का बारीक़ी से अध्ययन किया है. जांग और उनकी टीम ने ‘फ़िलोपोनेला प्रोमीनेन’ नामक प्रजाति की मकड़ियों की स्टडी की है, जो लगभग 300 के समूहों में रहती हैं. अपने स्टडी में उन्होंने 155 यौन संबंधों को परखा. इनमें 152 बार उन्होंने मकड़ियों को उछल कर भागते देखा. बाकी तीन मकड़ियां भाग नहीं पाईं और मादा मकड़ी उन्हें मार कर खा गई.  

dw

शोध बताता है कि, नर मकड़ियां 6 बार तक एक ही मकड़ी के साथ संबंध बना सकती है. वे एक रेशमी तार के ज़रिए मादा मकड़ी तक पहुंचती है और संबंध बनाकर वापस भाग जाती है. वैज्ञानिकों ने अपने शोध के दौरान 30 नर मकड़ियों को उछलने से रोकने के लिए उनके पीछे एक ब्रश रख दिया. इस कारण वे भाग नहीं पाईं और सबकी सब मार डाली गईं.  

ग़ज़ब की ताक़त  

sciencing

नर मकड़ियां गुरुत्वाकर्षण से बीस गुना ज़्यादा ताक़त से उछलती हैं. जांग बताते हैं, ‘मुझे नहीं पता कि और कोई भी प्रजाति है जो इस तरह की छलांग लगा सकती हैं.’ इस छलांग का औसत 65 सेंटी मीटर प्रति सेकंड तक था. छलांग के दौरान, ये मकड़ियां 175 चक्कर प्रति सेकंड की रफ़्तार से अपनी धुरी पर घूमती हुई उछली थीं.  

sciencephoto

जांग का अनुमान है कि मादा मकड़ियां उछलने की ताक़त के आधार पर ही नर मकड़ियों को परखती हैं. वो कहते हैं, ‘उछलने के ज़रिए नर मकड़ी अपनी जान बचा सकती है और मादा मकड़ी उच्च गुणवत्ता वाले नरों को चुन सकती है क्योंकि छलांग की ऊर्जा सीधे तौर पर नर की शारीरिक क्षमता से जुड़ी होती है. ऐसे में संभव है कि मादाएं उसी नर के शुक्राणु स्वीकार करें जो इस परीक्षा पर खरा उतरा हो.’  

esa

मकड़ियों की कई प्रजातियों में यौन संबंधों के बाद मादाओं द्वारा नरों को मार देने की प्रवृत्ति देखी गई है. मारे जाने से बचने के लिए नर मकड़ियां अलग-अलग तरीके के हथकंडे अपनाती हैं. जैसे एक तरह की मकड़ी सेक्स करने से पहले मादा मकड़ी को जाल में बांध देती है.  

ये भी पढ़ें:-  एक महिला के कान से आ रही थी अजीब तरह की आवाज़, जांच करने पर निकली ज़हरीली मकड़ी