हमारी पृथ्वी पर लाखों करोड़ों रहस्यमयी और आश्चर्यजनक चीज़ें हैं. कुछ तो इतनी अजीबों-ग़रीब होती हैं कि हम बस प्रकृति की क्षमता के बारे में कल्पना कर पाते हैं. एक से बढ़ कर एक तरह के जीव-जंतु और तरह-तरह के अजीब और अविश्वसनीय चीज़ों से भरी हुई है ये दुनिया अद्भुत है.

चलिए इस अद्भुत दुनिया की कुछ अद्भुत चीज़ों के बारे में जानते हैं, जिनके बारे में आपने शायद ही कुछ सुना हो: 

1. Vantablack ब्रह्मांड में अब तक ज्ञात सबसे काला पदार्थ है.

Vantablack एक नैनो-पदार्थ है जो पृथ्वी पर मौज़ूद किसी भी अन्य पदार्थ की तुलना में सबसे काला है. इसे 2015 में ब्रिटेन में Surrey NanoSystems द्वारा विकसित किया गया था. Vantablack अपने सतह पर पड़ने वाले वाले 99.98% प्रकाश को अवशोषित कर लेता है. इसका मतलब ये है कि Vantablack को देखने पर इंसान की आंखों को तकनीकी रूप से कुछ भी नहीं दिखता है. 

Source: sciencealert.com

2. नीली Sea Slug जो किसी एलियन की तरह दिखती है.

Glaucus Atlanticus समुद्री Slug की एक प्रजाति है जिसको 'नीली परी' भी कहा जाता है. जितना ये प्राणी सुंदर है उतना ही दुर्लभ भी है, और ये केवल दक्षिण अफ़्रीका और ऑस्ट्रेलिया के समुद्र-तटों पर पाया जाता है. हालांकि, ये विषैले समुद्री जीवों का शिकार करती है और उनके ज़हर को अपनी विशेष थैलियों में इकट्ठा करती है. इस ज़हर का इस्तेमाल वो अगले शिकार को मारने में करती है.   

3. Aerogel जो बादल के किसी टुकड़े की तरह दिखता है.

Aerogel, जेल और गैस से मिलकर बना बहुत ही हल्का पदार्थ होता है. इसे 'Frozen Smoke' या Solid Cloud' का नाम भी दिया गया है. इसमें 99% तक सिर्फ़ हवा होती है. वैज्ञानिकों ने विभिन्न प्रकार के Aerogel बनाए हैं, हालांकि, सभी को बनाने में एक ही तरह की प्रक्रिया अपनाई जाती है.

Source: sciencealert.com

4. कोलंबिया में एक भूमिगत गिरजाघर (कैथेड्रल) है जो पूरी तरह से नमक से बना है. 

Cathedral of Zipaquirá कोलंबिया के Cundinamarca में एक भूमिगत रोमन कैथोलिक चर्च है, जो 1954 में नमक के एक खदान में खुदाई के दौरान निकला था. यह पूरी तरह से नमक से बना है और Zipaquirá नामक एक छोटे शहर की सतह से 180 मीटर (590 फ़ीट) नीचे है. कैथेड्रल में एक विशाल नमक का क्रॉस भी है और इसकी अधिकतम क्षमता 10,000 लोगों की है.  

Source: sciencealert.com

5. गोबलिन शार्क 'जीवित जीवाश्म' हैं जो बहुत भयानक दिखते हैं.

गोबलिन शार्क गहरे समुद्र में पाए जाने वाले शार्क की एक दुर्लभ प्रजाति है जिसे कभी-कभी 'जीवित जीवाश्म' भी कहा जाता है. ये प्राचीन Mitsukurinidae शार्क परिवार से जुड़ी एकमात्र प्रजाति है. ये अन्य जानवरों से निकलने वाली Electrical Currents का पता लगाने में सक्षम हैं और उनके शिकार को छीनने के लिए अपने जबड़ों का इस्तेमाल करते हैं.

Source: sciencealert.com

6. इंडोनेशिया में इस ज्वालामुखी से चमकीले-नीले रंग का लावा निकलता है.

इंडोनेशिया के Kawah Ijen ज्वालामुखी नीले और बैंगनी रंग का लावा उगलने के लिए जाना जाता है. हालांकि, लावा का रंग अपने आप में नीला नहीं होता है. Smithsonian Magazine के अनुसार ये रंग लावा के साथ काफ़ी ज़्यादा मात्रा में निकलने वाले सल्फर गैस के कारण आता है. जब इस गैस में आग लग जाती है तो नीला रंग निकलता है जिससे लावा भी नीला नज़र आता है. 

Source: sciencealert.com

7. दुनिया की सबसे दुर्गम जगह- प्वाइंट निमो  

'Oceanic point of inaccessibility' के नाम से जाने जाना वाला प्वाइंट निमो पृथ्वी पर सबसे दुर्गम जगह मानी जाती है. ये अंटार्कटिका के पास  Ducie Island, Motu Nui और Maher Island द्वारा बनाए गए त्रिकोण के केंद्र में स्थित है. ये इतना दूर है कि प्वाइंट निमो के सबसे नज़दीक आमतौर पर अंतरिक्ष यात्री होते हैं - अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन जो लगभग 415 किलोमीटर की दूरी से पृथ्वी की परिक्रमा करता है. प्वाइंट निमो से सबसे निकटतम इंसानी बस्ती 1,225 किलोमीटर दूर है.

Source: sciencealert.com

8. समुद्र के भीतर Underwater झीलें और नदियां हैं.

ब्राइन पूल के नाम से जाने जानी वाली ये झीलें समुद्र में ऐसे इलाक़े होते हैं जिनमें महासागर की तुलना में बहुत अधिक खारापन (यानी नमक) होता है. समुद्र के बाकी हिस्सों की तुलना में इन झीलों का पानी बहुत सघन होता है. इसके कारण पानी के नीचे बनी ये झीलें आसपास के समुद्र से अलग दिखाई देती हैं. इन झीलों की अपनी अलग-अलग लहरें होती हैं. हालांकि, इन झीलों में उच्च मात्रा में मीथेन और हाइड्रोजन सल्फाइड पाए जाते हैं, इसलिए उनमें तैरना मनुष्यों के लिए ख़तरनाक होता है.  

Source: sciencealert.com

9. Tardigrades ऐसे सूक्ष्मजीव हैं जो बाहरी अंतरिक्ष में जीवित रह सकते हैं.

Tardigrades ऐसे सूक्ष्मजीव हैं जो कहीं भी जीवित रह सकते हैं. वो मिट्टी या काई जैसी नम जगहों पर रहना पसंद करते हैं. लेकिन Smithsonian पत्रिका के अनुसार, ये जीव -328 डिग्री फ़ारेनहाइट (-200 डिग्री सेल्सियस) ठंड से लेकर 300 डिग्री फ़ारेनहाइट (149 डिग्री सेल्सियस) तक गर्मी बर्दाश्त कर सकते हैं. वैज्ञानिकों ने ये भी पाया है कि Tardigrades रेडिएशन में, उबलते हुए तरल पदार्थ में समुद्र के सबसे गहरे हिस्से और यहां तक ​​कि अंतरिक्ष के वैक्यूम भी ज़िंदा रह सकते हैं.

Source: sciencealert.com

10. मेक्सिको में एक गुफ़ा है जो श्वेत क्रिस्टलों से भरी है. 

Fuely Cueva de los Cristales या Cave of Crystals के नाम से जानी जाने वाली ये गुफ़ा बड़े-बड़े बेहद चमकदार जिप्सम क्रिस्टल से भरी हुई है. ये रहस्यमयी स्थान साल 2000 में खोजा गया था. ये संरचनाएं इतनी शुद्ध हैं कि वैज्ञानिक पारंपरिक तकनीकों का उपयोग करते हुए इनकी उम्र पता करने में असमर्थ हैं. हालांकि, शोधकर्ता एक क्रिस्टल के भीतर से 50,000 साल पुराने बैक्टीरिया के नमूने लेने में सफ़ल रहे हैं.

Source: sciencealert.com

है न एकदम अतरंगी दुनिया!