‘अर्बन कंपनी’ (Urban Company) एक ऐसा ब्रांड जिसके आने से कई लोगों की ज़िंदगी आसान हो गई है. घर की ‘साफ़-सफ़ाई’ से लेकर ‘पर्सनल ग्रूमिंग’ तक ‘Urban Company’ के पास हर समस्या का हल है. घर के छोटे-छोटे कामों के लिये अब लोगों को इधर-उधर नहीं भटकना पड़ता. ‘Urban Company’ App पर बुकिंग करते हैं और सारे काम मिनटों में हो जाते हैं. वो भी परफे़ेक्शन के साथ. 

indiaretailing

अपने काम की बदौलत ही ‘Urban Company’ ने लोगों का विश्वास जीत उनके दिलों में ख़ास जगह बना ली. पर ये हुआ कैसे? कैसे एक कंपनी इतनी जल्दी काम की बदौलत बुलंदियों तक पहुंच गई?

कब हुई ‘अरबन कंपनी’ की शुरुआत

आपकी हर दिक्कत को हल करने वाली ‘अरबन कंपनी’ 2014 में शुरू हुई थी. ऐप की शुरुआत अभिराज सिंह बहल, वरुण खेतान और राघव चंद्रा तीन युवाओं ने की थी. पहले इस कंपनी का नाम ‘अरबन क्लैप’ (Urban Clap) था. इसके बाद जनवरी 2020 में नाम बदलकर ‘अरबन कंपनी’ रख दिया गया. कंपनी के को-फ़ाउंडर अभिराज बहल का कहना था कि वो एक ऐसा नाम चाहते थे जिसे पूरी दुनिया स्वीकारे. इसलिये उन्होंने नाम बदल कर ‘Urban Company’ रख दिया.  

indiatimes

विदेशों में भी मिल रही है लोकप्रियता 

‘अरबन कंपनी’ सिर्फ़ भारत ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी लोकप्रिय है. सिंगापुर, यूएई और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में सफ़लतापूर्वक अपनी सेवाएं दे रही है.  

Urban Company‘ से पहले क्या कर रहे थे तीनों दोस्त  

ये कंपनी 2014 में शुरु हुई थी. उससे पहले वरुण और अभिराज ‘Cinemabox’ नामक ऑन डिमांड मूवी स्ट्रीमिंग प्लेटफ़ॉर्म चला रहे थे. वहीं राघव ऑटो राइड शेयरिंग ऐप ‘Buggy’ शुरू करने का प्रयास कर रहे थे. तीनों ही कुछ अलग करना चाहते थे, लेकिन वो नहीं कर पा रहे थे जो करना चाहते थे. इसलिये तीनों ने साथ आने का फ़ैसला किया और ‘Urban Company’ का निर्माण कर डाला.   

business

भारत में की सफ़ल शुरूआत

हमारे देश में किसी भी नई चीज़ को ज़मने में समय लगता है, लेकिन Urban के साथ ऐसा नहीं हुआ. Urban ने आते ही अपनी ज़बरदस्त मार्केटिंग की. लोगों को अच्छी सर्विस का भरोसा दिलाया और उस पर खरे भी उतरे. इसलिये ये तेज़ी से आगे बढ़ पाये और अब Urban कंपनी धीरे-धीरे देश के हर राज्य में अपनी सफलता की कहानी लिख रही है.  

yourstory

लोगों को मिला रोज़गार  

Urban कंपनी सिर्फ़ लोगों की ज़िंदगी आसान ही नहीं बना रही है, बल्कि कई लोगों को रोज़गार भी दे रही है. न जाने कितने टैलेंटेड लोग घर पर बेरोज़गार बैठे थे. ऐसे में कंपनी के आने से उन्हें काम मिलने लगा, जो कि इंसान और देश दोनों की तरक्की का संकेत है.  

thehardcopy

ये भी पढ़ें: वो 10 भारतीय ब्रांड्स जिन्होंने सालों से हिंदुस्तानियों के दिलों में कायम कर रखा है विश्वास 

अगर आपके पास अच्छा आईडिया और कुछ करने की ज़िद है, तो आप वो हर काम कर सकते हैं जो दूसरे करने की बस सोचते रह जाते हैं. सोचिये न किस तरह एक यूनिक आईडिया (Idea) आज दुनियाभर में फ़ेमस हो गया है.