आपने विश्व के कई बड़े साम्राज्य व रियासतों के बारे में सुना होगा. मुग़ल साम्राज्य, जो काबुल से लेकर भारत तक फैला था. वहीं, ब्रिटिश साम्राज्य, जिसे दुनिया का सबसे बड़ा साम्राज्य कहा गया. भारत उपमहाद्वीप भी छोटी-बड़ी 565 रियासतों में बंटा हुआ था.   

लेकिन, क्या आप विश्व के सबसे छोटे साम्राज्य के बारे में जानते हैं? अगर नहीं, तो हम इस ख़ास लेख में आपको यही बताने जा रहे हैं.  

किंगडम ऑफ़ टवोलारा

tavolara
Source: shortwave

इटली के सार्डिनिया में एक छोटा-सा द्वीप है, जहां ‘किंगडम ऑफ़ टवोलारा’ नाम का एक छोटा साम्राज्य है. जानकर हैरानी होगी कि यह तब से अस्तित्व में है, जब इटली को एक देश का दर्जा प्राप्त नहीं हुआ था. इस साम्राज्य का विस्तार ‘टवोलारा’ नाम के छोटे से द्वीप तक ही है.    

कितनी आबादी है यहां की?

tavolara Island
Source: tripadvisor

जानकर हैरानी होगी कि दुनिया की इस सबसे छोटी रियासत में केवल 11 लोग ही रहते हैं. यह साम्राज्य केवल 5 वर्ग किमी में ही फैला है. अब सोच लीजिये, कितना छोटा साम्राज्य है यह.     

नहीं पहचान पाओगे यहां के राजा को 

tavolara king
Source: planet360

अगर आप यहां पहुंचते हैं, तो शायद यहां के राजा को पहचान न पाओ. एक राजा के लिए आपकी कल्पना से बिल्कुल उलट हैं यहां के बादशाह. यहां के राजा का नाम है एंतोनियो बर्तलिओनी. एंतोनियो बर्तलिओनी एक आम इंसान की तरह ही दिखते और रहते हैं.    

एक साधारण ज़िंदगी

tavolara king
Source: bbc

आपको बता दें कि एंतोनियो बर्तलिओनी को एक राजा के तौर पर मुफ़्त भोजन ही मिलता है. वो अपना एक छोटा रेस्टोरेंट चलाते हैं और चप्पल और हाफ़ पैंट में ही दिन का ज्यादा समय बिताते हैं. उनकी अपनी नाव भी है.   

राजा की ज़ुबानी उनका इतिहास 

The Kingdom of Tavolara
Source: planet360

एंतोनियो बर्तलिओनी के मुताबिक़, 1807 में उनके परदादा के परदादा (गुसेप बर्तलिओनी) दो बहनों से शादी करके इटली से यहां भागकर आ गए थे. उस समय इटली को एक देश का दर्जा प्राप्त नहीं था. वहीं, सार्डिनिया एक साम्राज्य के तौर पर विकसित हुआ था, जहां दो शादियां करना पाप था. इसलिये, गुसेप बर्तलिओनी इस द्वीप पर आकर बस गए.    

सुनहरे दांत वाली बकरी   

goat
Source: pixabay

एंतोनियो बर्तलिओनी का कहना है कि उनके परदादा के परदादा को यहां एक सुनहरे दांत वाली बकरी की प्रजाति मिल गई थी. चूंकि, यह बकरी की दुर्लभ प्रजाति थी, तो इसकी खबर इटली तक भी फैली. जब इन बकरियों का शिकार करने के लिए सार्डिनिया के राजा का इस द्वीप पर आगमन हुआ, तो उन्होंने गुसेप बर्तलिओनी से कहा कि वे सार्डिनिया के राजा हैं. इस पर गुसेप ने कहा कि वो टवोलारा के बादशाह हैं. इसके बाद गुसेप ने बकरी का शिकार करने में उनकी मदद की और पूरा द्वीप घुमाया.  

Tavolara
Source: viator

कहा जाता है कि जब सार्डिनिया के राजा वापस अपने साम्राज्य पहुंचे, तो उन्होंने साफ़ ऐलान करवाया कि टवोलारा उनके क्षेत्र का हिस्सा नहीं है. इसके बाद टवोलारा एक स्वतंत्र साम्राज्य बनकर सामने आया. इसके बाद से बर्तलिओनी घराने का शासन यहां चलते आ रहा है.   

सैनिक अड्डा   

tavolara kingdom
Source: bbc

माना जाता है कि 1962 में नैटो (NATO) का एक सैनिक अड्डा यहां बनाया गया, जिससे इस छोटी-सी रियासत की संप्रभुता ख़तरे में आ गई. यहां के अधिकांश हिस्सों को रिस्ट्रिक्टेड ज़ोन बना दिया गया, जहां किसी के आने-जाने पर पाबंदी है. वहीं, इटली ने कभी इसे अपना औपचारिक हिस्सा नहीं बनाया.   

फ़ेरी सर्विस

Tavolara
Source: wikipedia

बता दें कि इस छोटी रियासत के राजा अपने परिवार के बाकी सदस्यों के साथ इटली से टवोलारा द्वीप तक फ़ेरी सर्विस चलाते हैं. वहीं, परिवार के बाकी सदस्य समुद्र से मछली भी पकड़ते हैं, जिन्हें पकाकर वो सैलानियों को परोसते हैं. यहां सैलानियों का आना-जाना लगा रहता है. यहां सैलानी ज्यादातर दुर्लभ बकरी और बाज़ की प्रजाति को देखने के लिए यहां आते हैं.