बात जब भी आगरा शहर की होती है लोगों के ज़हन में ताजमहल का नाम ज़रूर आता है. क्या करें बनाने वाले ने इतनी ख़ूबसूरत चीज़ जो बनाई है. कहते हैं कि हिंदुस्तान की इस ख़ूबसूरत निशानी को बनाने में कई साल और बहुत सारे पैसे लगे थे. लेकिन जब ताजमहल बन कर तैयार हुआ, तो दुनिया देखती रह गई.  

Taj Mahal
Source: easyvoyage

.ये भी पढ़ें: आगरा ने देश को दिये हैं ये 7 जाने-माने चेहरे, जिस पर शहरवासियों को गर्व होना चाहिये 

हांलाकि, ताजमहल का एक दूसरा सच भी है, जिसके बारे में कम ही लोग जानते हैं. वैसे तो इतिहास के पन्नों में शाहजहां के ताजमहल को लेकर कई बातें लिखी गई हैं और उन्हीं में एक सच हम भी आपसे शेयर करने जा रहे हैं. कई बार लोगों को कहते सुना है कि ताजमहल के मुख्य हाल की छत पर एक छेद है. छोटा सा दिखने वाला ये छेद मुमताज के मक़बरे के ठीक ऊपर बना हुआ है.  

Taj Mahal
Source: treebo

इस छेद को लेकर लोग तरह-तरह की बातें करते आये हैं. किसी का कहना है कि ताजमहल के निर्माण कार्य के दौरान कारीगरों ने ये छेद जानबूझ कर किया था, ताकि उससे पानी टपके और उसमें दोष आ जाये. कारीगर ऐसा इसलिये कर रहे थे, क्यों उन्हें पता चल गया गया था कि ताजमहल का निर्माण कार्य पूरा होते ही शाहजहां उन्हें अलग कर देंगे. 

Taj Mahal
Source: rishusdesign

ये सच है या मिथक? 

ये बात कहीं से भी सच साबित नहीं की जा सकती है. जानकारों के मुताबिक, बारिश के दौरान ताजमहल की छत से पानी छेद की वजह से नहीं निकलता है. इसका कारण पसीना और श्वसन है, जिस वजह से ऐसा लगता है कि छेद से पानी निकल रहा है. यानि हमारी जांच के अनुसार, ये सिर्फ़ एक मिथक साबित होता है.  

Taj Mahal
Source: blogspot

इसलिये अगली बार आपसे कोई इस तरह की बातें करता नज़र आये, तो उसे सच ज़रूर बताइयेगा. कई बार ऐसा होता है कि हम बिना सच जाने सुनी-सुनाई बातों पर यकीन करते रहते हैं और उसी को आगे बढ़ाते रहते हैं.