समुद्री मार्गों पर चलना हमेशा से ही ख़तरनाक रहा है. मौसम की मार के साथ ही समुद्री लुटेरों का ख़ौफ़ आज भी कायम है. भले ही आज लोगों ने कितनी ही तरक्की क्यों न कर ली हो फिर भी नियमित अंतराल पर समुद्री लुटेरों द्वारा जहाज़ का अपहरण करने की ख़बरें आती ही रहती हैं. ये एक वैश्विक समस्या बन चुकी है. आइए एक नज़र डालते हैं, पानी के जहाज़ों के लिए जी का जंजाल बने चुके समुद्री मार्गों पर…

1.सोमालिया

Source: washingtonpost

सोमालिया के 1800 मील लंबे समुद्री मार्ग से गुज़रते समय अकसर पानी के जहाज़ों पर सुमद्री लुटेरे हमला कर देते हैं. वो उन पर रॉकेट लॉन्चर से हमला कर, जहाज़ पर मौजूद लोगों का अपहरण कर लेते हैं. उन्हें छोड़ने के बदलने में वो उनकी सरकार से फिरौती मांगते हैं.

2.मलक्का जलडमरूमध्य

Source: nbcnews

मलक्का जलडमरूमध्य चीन और भारत को जोड़ता है. 550 मील लंबे इस मार्ग से गुज़रने वाले जहाज़ों पर समुद्री लुटेरों का ख़तरा मंडराता रहता है.

3.तंजानिया

Source: marsecreview

हिंद महासागर पर मौजूद तंजानिया भी महत्वपूर्ण जल मार्गों में से एक है. लेकिन यहां से भी अकसर समुद्री लुटेरों द्वारा जहाज़ों को लूटने और उनका अपहरण करने की ख़बरें आती रहती हैं.

4. इंडोनेशिया

Source: vesselfinder

यहां पर भी पहले बहुत से पानी के जहज़ों को लूटे जाने की ख़बरें आ चुकी हैं. मगर बीत कुछ वर्षों में यहां कि सरकार ने इन पर लगाम लगाने में कामयाब हुई है.

5. नाइजीरिया

Source: olivernwokedi

यहां भी समुद्री लुटेरों का आतंक है. एक रिपोर्ट के अनुसार, इसी इलाके में पूरी दुनिया में होने वाली समुद्री डकैतियों 20 फ़ीसदी वारदातें घटती हैं.

6.अदन की खाड़ी / लाल सागर

Source: yachtingmonthly

अदन की खाड़ी भी समुद्री लुटेरों का पसंदीदा इलाका है. यहां स्वेज नहर जो लाल सागर और भूमध्य सागर को जोड़ती है, उस रास्ते पर समुद्री लुटेरों का आतंक है.

7. बांग्लादेश

Source: intpolicydigest

बांग्लादेश के चटगांव बंदरगाह पर भी समुद्री डकैती की वारदातें होती रहती हैं. लेकिन अब इनकी संख्या में भारी गिरावट आ चुकी है.

8.पेरू

Source: alternatehistory

इसके Callao बंदरगाह पर समुद्री लुटेरे अकसर हमला कर देते हैं. इन्हीं के चलते यहां पर अवैध ड्रग्स का कारोबार भी तेज़ी से बढ़ा है.

9. मलेशिया

Source: ship

ये इलाका भी समुद्री लुटेरों के आतंक से परेशान था. लेकिन पिछले कुछ वर्षों में यहां पर प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड सर्विसिस के चलते इस पर लगाम लगा है.

इस तरह के और आर्टिकल पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.