कोरोना संकट के चलते हुए लॉकडाउन ने भले लोगों का घर से बाहर निकलने पर विराम तो लगाया, लेकिन इस दौरान उनकी क्रिएटिविटी पर विराम लगाना संभव नहीं था. लॉकडाउन में लोगों की क्रिएटिविटी निखरकर सामने आयी है. लॉकडाउन से पहले जो लोग चाय तक नहीं बना पाते थे वो आज लंच-डिनर सब कुछ बनाना सीख गए हैं.  

Source: whatshot

महाराष्ट्र के अहमदनगर की रहने वाली 70 वर्षीय सुमन धमाने भी अपनी अद्भुत कुकिंग स्किल्स के कारण रातों रात पकाने के YouTube सेलेब्रिटी बन गई हैं. अहमदनगर से 15 किमी दूर सारोला कसार गांव की सुमन धमाने ने इसी साल 25 मार्च को 'आपली आजी' (आपकी दादी) नाम से ख़ुद का YouTube चैनल बनाया था.  

Source: whatshot

सुमन धमाने अपने इस YouTube चैनल पर ट्रेडिशनल महाराष्ट्रियन कुकिंग के वीडियोज़ डालती रहती हैं. लॉकडाउन के दौरान सुमन धमाने के पहले ही वीडियो को 6 मिलियन लोगों ने देखा था. वो अब तक अपने चैनल पर 150 रेसिपीज़ के वीडियोज़ डाल चुकी हैं. 

Source: whatshot

'आपली आजी' के सभी कुकिंग वीडियोज़ को अब तक 5.7 करोड़ लोग देख चुके हैं. आज उनके YouTube चैनल पर 6 लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं. सुमन धमाने का 'आपली आजी' नाम से इंस्टाग्राम अकाउंट भी है. इंस्टाग्राम पर भी उनके क़रीब 1000 सब्सक्राइबर हैं. YouTube से 'सिल्वर बटन' के अलावा 'Creator's Award' भी पा चुकी हैं.

Source: whatshot

YouTuber बनाने की कहानी है दिलचस्प  

सुमन धमाने का 'आपली आजी' बनने के पीछे की कहानी भी बेहद दिलचस्प है. इसकी शुरुआत इस साल जनवरी में उस वक़्त हुई जब उनके 17 वर्षीय पोते यश पाठक ने दादी से 'पाव भाजी' बनाने का अनुरोध किया. इस दौरान दादी के हाथों से बना लज़ीज़ 'पाव भाजी' ने यश को उनका फ़ैन बना दिया.  

Source: noxinfluencer

इसके बाद यश ने दादी को YouTube चैनल बनाने की सलाह दी और उन्हें कुछ कुकिंग वीडियोज़ भी दिखाए. इसके बाद दादी खाना बनाने लगीं और यश ने उनके वीडियो YouTube पर पोस्ट करना शुरू कर दिया. इस तरह से दादी 'सुमन धमाने' से 'आपली आजी' बन गईं.