कोविड-19 की वैक्सीन जब तक नहीं बन जाती तब तक इससे राहत के आसार नहीं दिख रहे. कई मीडिया रिपोर्ट्स में कोवडि-19 से ठीक हो चुके मरीज़ों के दोबारा इन्फ़ेक्टेड होने की बातें सामने आई हैं. कई डॉक्टर्स ने कोविड-19 रिलैप्स की भी आशंकाएं जताई हैं. डॉक्टर्स ने कोविड-19 से ठीक होने के बावजूद सावधानियां बरतने की सलाह दी है. 

Source: Orilia Matters

कोविड-19 से ठीक होने के बाद दोबारा इन्फ़ेक्शन के ख़तरे से बचने के लिए ज़रूरी है कि हम कुछ साविधानियां बरतें. एक रिपोर्ट के अनुसार, हमें कोविड-19 से ठीक होने के बाद भी अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को स्ट्रॉन्ग करना होगा. ऐसा रेगुलर एक्सरसाइज़, सेहतमंद खाने से कर सकते हैं.

इसके साथ ही साफ़-सफ़ाई, मास्क पहनना और सोशल डिस्टेन्सिंग करना भी ज़रूरी है. बार-बार हाथों को सैनिटाइज़ करना, चेहरे और आंखों को बार-बार न छूना बेहद ज़रूरी है. 

Source: Yahoo

ये कुछ ऐसी गाइडलाइन्स हैं जिनका पालन प्री-कोविड और पोस्ट-कोविड दोनों ही सूरतों में करना ज़रूरी है.

डॉक्टर्स का कहना है कि कोविड-19 इन्फ़ेक्शन कोई अफ़वाह नहीं है और ये बेहद संगीन है क्योंकि हमारे फेफड़े बार-बार इसकी मार नहीं झेल सकते.  

Source: Mecial News Today

कुछ डॉक्टर्स का कहना है कि हड्डियों को मज़बूत करने के लिए हर दिन धूप में कुछ वक़्त बिताना. हरी सब्ज़ियां, फल खाना और ख़ुद को हाइड्रेटेड रखना ज़रूरी है. क्योंकि कोविड के बाद पाचन शक्ति कमज़ोर हो जाती है तो दिन में एक बार खिचड़ी का सेवन ज़रूरी है.

कोविड के बाद अपनी डाइट पर ख़ासा ध्यान देना होगा. कोविड पाचन शक्ति, शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता, स्टैमिना पर ही अटैक करता है. इसलिए खाने में एंटी-ऑक्सिडेन्ट्स की मात्रा बढ़ानी होगी. रोज़ाना स्प्राउट्स, नट्स, दूध और अन्य मिल्क प्रोडक्ट्स का सेवन ज़रूरी है.  

ध्यान रहे कि ये बीमारी सीधे इम्युनिटी पर हमला करती है और उसे बनाए रखना ही सबसे ज़्यादा ज़रूरी है.