दुनिया में कई जानलेवा एडवेंचर स्पोर्ट्स हैं, उन्हीं में से एक है रॉक क्लाइम्बिंग और दुनियाभर के रॉक क्लाइम्बिंग करने वालों को अपनी ओर खींचता है अमेरिका के कैलिफ़ॉर्निया में स्थित El Capitan.

Sierra Mountain Range में कई ग्रेनाइट के बड़े-बड़े पत्थर हैं, लेकिन रॉक क्लाइम्बिंग करने वालों की नज़र सीधा El Capitan पर जाती है. इसकी ऊंचाई लगभग 3,000 फ़ीट है.

Source: National Geographic

पेशेवर क्लाइंबर Tommy Caldwell(जो अलग-अलग रास्तों से इस विशालकाय पत्थर पर विजय पताका फहरा चुके हैं और जो इसे किसी और से ज़्याद अच्छे से जानते हैं) का इसके बारे में कहना है कि ये 3,000 फ़ीट से भी ऊंचा सीधा खड़ा ग्रेनाइट है, इसे देख कर ये सही लगता है, देख कर नहीं लगता कि कोई इसपर चढ़ाई कर सकता है.

El Cap. कई दशकों को क्लाइंबर प्रजाती को चैलेंज करता आ रहा है. इसके ऊपर सबसे पहले साल 1958 में Warren Harding और उनके ग्रुप ने चढ़ाई की थी. इस काम को करने में 46 दिन का समय लगा था और ये पूरे 16 महीनों तक खिंचा था. Warren का ग्रुप ऊपर की ओर फूंक-फूंक कर कदम रख रहा था. ग्रेनाइट में ड्रिल करके ग्रुप धीर-धीरे आगे बढ़ा था. एक बार में ऐसा करना असंभव था.

Source: National Geographic

आज भी El Cap. की चढ़ाई पूरी करने में लोगों को कई दिन लग जाते हैं, वो भी तब जब उनकी सुरक्षा के लिए हज़ारों पाउंड के उपरकरण मौजूद होते हैं. कुछ उच्चकोटी के क्लाइंबर ही इसे बिना किसी उपकरण के चढ़ पाए हैं.

साल 2017 में Alex Honnold ने बिना किसी रस्सी, उपकरण, नेट आदि की मदद के इसकी चोटी पर कदम रखा था. इस कारनामे का आधिकारिक नाम 'First Free Solo Ascent' रखा गया था.

El Cap पृथ्वी पर मौजूद सबसे प्रभावशाली दीवार है.

- Alex Honnold

Honnold ने El Cap के बारे में कहा था कि वो बिना उपकरण के चढ़ने के बारे में साल 2009 से सोचते आ रहे थे. हर साल वो सोचते थे कि इस साल ये किया जा सकता था. वो ये भी सोचने लगे थे कि शायद ये काम उनके लिए नहीं है. अगली जेनरेशन ही ये करेगी या वही ये कारनामा कर सकता है जिसके पास जीने का कोई दूसरा कारण न हो.

Source: National Geographic

बिना उपकरण के रॉक काइंब्लिंग करना इतना मुश्किल है कि 100 में से 1 पेशेवर ऐसा करता है और Honnold ने El Cap पर ऐसा करने का सोचा और किया. उन्होंने आगे बताया कि मैं अपने 30-40 दोस्त को खो चुका हूं, जिनकी मौत इस क्लाइंबिंग के दौरान हुई है.

Alex Honnold ने लगभग हज़ार से ऊपर सोलो क्लाइंबिंग की है. उनके ऊपर Free Solo नाम की एक फ़िल्म भी बनी है. लेकिन फ़िल्म की कहानी El Cap. तक नहीं पहुंचती क्योंकि फ़िल्ममेकर्स इस जोख़िम भरे कारनामे का हिस्सा नहीं बनना चाहते थे.

सोचिए एक ओलंपिक में गोल्ड लेवल जीतने के स्तर का कारनाम लेकिन अगर आप गोल्ड मेडल नहीं जीतेंगे, तो आपकी मौत तय है. ये है El Cap जिसकी हम बात कर रहे हैं.

- Tommy Caldwell

Source: National Geographic

Honnold ने El Cap की चढ़ाई चार घंटे के भीतर पूरी कर ली थी. चढ़ाई के दौरान 2,100 फ़ीट की ऊंचाई पर एक जगह आती है जिसे पेशेवरों की भाषा में Monster Offwidth कहते हैं, वहां जहां पैर रखने भर की जगह भी नहीं होती पूरे शरीर का भार क्लाइंबर के हाथों के ऊपर होता है. Honnold ने कहा कि उस जगह के बारे में लोग कहते हैं कि वहां तब तक ख़ुद को रोके रखें जब तक उल्टी न हो जाए, क्योंकि उस स्थान को छोड़ा तो सीधे मौत तय है.

किसी भी खेल में जब कोई रिकॉर्ड एक बार बन जाता है, तब अन्य खिलाड़ी उसे तोड़ने या बराबरी करने की होड़ में जुट जाते हैं. इस मामले में भी ऐसा ही है लेकिन यहां ज़िंदगी को दांव पर लगाना पड़ेगा.