ज़िन्दा रहने के लिए तेरी कसम,

चाय का एक कप ज़रूरी है सनम!

चाय के बिना जीना बहुत मुश्किल है. देश में ऐसे भी चाय प्रेमी है जो आख़िरी इच्छा पूछ लो तो 'अदरक वाली चाय' बोल दें.

दुनिया में सिर्फ़ दूध, चीनी, चायपत्ती और अदरक वाली चाय ही नहीं मिलती. लैवेंडर, कैमोमील, पर्पल ऐसी भी चाय मिलती है. इंटरनेट की खाक छानते-छानते हमें मिली केले की चाय यानी Banana Tea,

Source: Indian Express

क्या है Banana Tea?


अब केले को अदरक वाली चाय में डुबाकर खाने को नहीं बोल रहे. केले में विटामिन्स और मिनरल्स का भंडार है. यहां तक कि इसके छिलके भी इस्तेमाल किया जा सकता है. कई रेसिपीज़ में केले का इस्तेमाल होता है. केले के चिप्स से लेकर केक तक, इससे बहुत कुछ बनाया जा सकता है. पर चाय?

Source: Her Zindagi

ऐसे बना सकते हैं चाय


आसान है. पहले केले को बिना छीले उबलते पानी में डालें. केले को छिलके के साथ या छीलकर चाय बनाई जा सकती है. जब छिलके के साथ बनाई जाती है तो इसको 'Banana Peel Tea' कहा जाता है. Banana Peel Tea में बहुत फ़ाइबर होता है और इसे बनाने में भी टाइम लगता है.

फ़्लेवर के लिए इसमें दालचीनी या शहद मिलाई जा सकती है.

फ़ायदे


ये चाय रात में पीना फ़ायदेमंद है, अच्छी नींद आती है. इस चाय में ज़्यादा कैलरीज़ भी नहीं होते क्योंकि Banana ख़ुद ही एक पौष्टिक फल है.

इस चाय को पीने से दिल की बीमारियों का ख़तरा कम किया जा सकता है.

भई, हमने आर्टिकल तो कर दिया पर हमारे लिए तो अदरक वाली चाय ही बेस्ट है वो भी कड़क.