अक्टूबर के 16 तारीख़ को वर्ल्ड फ़ूड डे मनाया जाता है. पता नहीं इस दिन को मनाने का क्या रिवाज़ है, आज लोग खाना खाते हैं या नहीं खाते हैं! अगर खाया तो नया क्या हुआ और न खाया तो वर्त के दिन फ़ूड डे कौन मनाता है बे!

Source: Solutran

हमने इस दिवस को ख़ास अंदाज़ में मनाया, ScoopWhoop Hindi के कर्मठ कर्मचारियों से सवाल पूछा कि उन्होंने जीवन में सबसे ज़्यादा वियर्ड फ़ूड कॉमबिनेशन में क्या खाया है या खाते हैं. ऐसे ऐसे जवाब सामने आए कि मुझे लगने लगा कि मैं किन पागलों के साथ काम करता हूं, कुछ भी खा रहे हैं ये लोग.

मैगी और चीनी

पांच से दस मिनट के भीतर स्वादिष्ट मैगी बन जाता ही (सबको पता है 2 मिनट वाला दावा फर्ज़ी है), उसमें चीनी डाल कर उसकी सेवई बनाने की कोशिश क्यों करना. खाने वाले का दावा है कि मसाले के स्वाद को कम करने के लिए करता है.

दूछ, चावल और आलू का चोखा (भरता).

मतलब खीर भी नहीं, क्योंकि चीनी नहीं डली है. सिर्फ़ दूध चावल के साथ आलू का भरता. खाने का नाम सुन कर लोगों के मुंह में पानी आता है, मेरे मुंह में गाली आ रहा है.

मोमोज़ और रोटी

मोमोज़ ख़ुद में एक पका पकाय हुआ खाना है, जिसे लोग बड़े चाव से खाते हैं. कहते हैं ज़रूरत अविष्कार की जननी होती है, यहां क्या ज़रूरत रही होगी कि अगले ने मोमोज़ के ऊपर मेहनत की. मोमोज़ की सब्जी बना डाली. भूख लगी थी तो मोमोज़ ही खा लेता भाई.

हर शहर का मिट्टी खाना

ये स्टंट सिर्फ़ पेशेवर लोग ही करते हैं, बिना अनुभव के इसे करने की कोशिश न करें. एक इंसान जिस-जिस शहर में गया है, उसने वहां की मिट्टी खाई है. उसके भीतर क्षमता है कि वो स्वाद से काली मिट्टी और रेतिली मिट्टी में अंतर बता देगा.

गुलाब जामुन और नींबू का आचार

सुनने में अजीब लग सकता है, लेकिन मेरा अपना मानना है कि ये ज़्यादा बुरा रहा नहीं होगा. क्योंकि लोग मीठे के साथ नमकीन खाना पसंद करते हैं. ये अलग बात है इस कॉमबिनेशन को ज़्यादा लोगों से आज़माया नहीं होगा.

बियर और चावल

बियर ऐसी चीज़ है जो किसी भी चीज़ के साथ चल जाती है! दोस्तों के बीच इस बात को साबित करने के चक्कर में चावल में बियर को दाल की तरह मिला कर खाया गया था. इस बेवकूफ़ी को करने वाले स्वंय आर्टिकल के लेखक महोदय हैं.

कुरकुरे के साथ इडली

सांभर समझने की भूल मत कीजिएगा. सिर्फ़ कुरकुरे और इडली. मैं उस इंसान की मांनसिक स्थिति को समझने की कोशिश कर रहा हूं कि आख़िर कितने पेग के बाद ऐसा नशा होता है कि आप चखने को इडली के साथ खाना शुरु कर दें.

इन लोगों से मैं इतना ही कहना चाहूंगा कि इन्हें मैं किसी दिन 'तमीज़ के साथ चप्पल' खिलाना चाहूंगा, तब इनमें अक्ल आएगी. ख़ैर, आप अपनी ओर से बताइए कि आपने ऐसा अजीब सा क्या खाया जो हमे बताना चाहेंगे.