देसी घी के बिना हम भारतीयों का खाना अधूरा रहता है. दाल में तड़का लगाना हो तो घी, पराठे बनाने हो तो घी. हमारे यहां हर घर की रसोई में घी ज़रूर मिलता है. लेकिन आजकल बाज़ार में Processed ही उपलब्ध है. हाथों से बनाए गए घी का मिल पाना घास के ढेर में सूई तलाशने जैसा हो गया है.

हाथ से बिलोय हुए घी का स्वाद आज तक भुलाये नहीं भूलता. बचपन में जब गर्मियों कि छुट्टियों में हम घर जाया करते थे, तब दादी मां अपने हाथों से बना देसी घी हमें खिलाती थी.

Bilona Ghee
Source: fashion

इसकी एक-एक बूंद में शुद्धता और टेस्ट का एहसास होता था. चाहे सब्ज़ी हो या फिर दाल इस देसी घी के मिलने से उनका स्वाद निराला हो जाता था. घी खाने का आलम ये था कि हम रोटी में घी चुपड़ कर नमक डालकर उसे बड़े ही चाव से खाते थे.

मगर शहर में आने के बाद उस देसी घी की बस यादें ही हमारे साथ रह गई हैं. यहां हमें मज़बूरन Processed घी खाना पड़ रहा है, जो मशीन से बना होता है. इस घी में न तो स्वाद होता है न ही वो सुगंध जो कि दिल को मोहित कर ले.

Bilona Ghee
Source: tripadvisor

जिन लोगों ने सिर्फ़ पैकेट का ही घी खाया उनकी जानकारी के लिए बता दें की देसी घी असल में कैसे बनाया जाता है. गांव में घी बनाने की एक लंबी प्रकिया अपनाई जाती है. इसके लिए पहले दूध को गर्म किया जाता है. जब उसका रंग हल्का गेंहुआ हो जाता है तब उसमें दही मिलाकर रात भर जमने के लिए एक मिट्टी के बर्तन में रख दिया जाता है.

Bilona Ghee
Source: youtube

फिर सुबह उस दही को मथानी की मदद से बिलोकर उससे मक्खन तैयार करते हैं. ये वही मक्खन है जिसे भगवान कृष्ण चुरा कर खाते थे. इसीलिए तो उन्हें माखनचोर कहा जाता है. इस मक्खन को इकठ्ठा कर कड़ाही में तेज़ आंच पर पकाया जाता है. इस तरह तैयार होता है स्वादिष्ट और पौष्टिक घी. ये घी बहुत ही टेस्टी और हेल्दी होता है.

Bilona Ghee
Source: hindirush

जबकि Processed घी को बड़े स्तर पर मशीनों के द्वारा बनाया जाता है. कुछ लोग इसे दूध से तो कुछ दूध की मलाई से बनाते हैं. भले ही इनका प्रोसेस बहुत ही तेज़ होता है और एक ही दिन में सैंकड़ों लीटर घी तैयार हो जाता है, लेकिन देसी घी जैसा स्वाद इनमें कतई नहीं आता. न ही इसे पचा पाना आसान होता है.

Bilona Ghee
Source: shutterstock

इसलिए जिन लोगों ने हाथ से बना देसी घी खाया होगा उनको रह-रह कर देसी घी की ही याद सताती होगी. य़कीन न आए तो एक बार अपने पिताजी या फिर दादाजी से पूछ कर देख लेना. जवाब मिल जाएगा.

Lifestyle से जुड़े दूसरे आर्टिकल पढ़ें ScoopWhoop हिंदी पर.