दबाकर खाना खाने के बाद चौड़िया कर डकार लेने का मज़ा ही अलग है. क़ायदे की डकार हो तो पेट में दो रोटी की एक्स्ट्रा जगह सेट हो जाती है. मग़र आपको जानकर हैरानी होगी कि इस डकार का सुख केवल धरती पर ही संभव है क्योंकि अगर आप अंतरिक्ष में हैं तो इससे महरूम रह जाएंगे.

Source: businessinsider

आख़िर क्या है इसके पीछे की वजह?

इसके पीछे वजह अंतरिक्ष में गुरुत्वाकर्षण का न होना है. दरअसल, गैस का वज़न पेट में मौजूद भोजन और लिक्विड से हलका होता है. ऐसे में जब पृथ्वी पर गैस पेट में फंसी होती है, गुरुत्वाकर्षण के कारण भारी भोजन और लिक्विड पेट में नीचे ही रहता है और गैस ऊपर उठने लगती है. ऐसे में डकार के ज़रिए ये बाहर निकल आती है.

Source: theatlantic

वहीं, अंतरिक्ष में जहां गुरुत्वाकर्षण नहीं होता है, गैस ऊपर तक नहीं उठती है. ये आपके पेट में मौजूद अन्य सभी चीज़ों के साथ मिक्स हो जाती है. ये एक तरह से आपके पेट में ही एक गोला बना देती है. 

ये भी पढ़ें: आख़िर हम ख़ुद को गुदगुदी क्यों नहीं कर पाते? जानिए इसके पीछे की वजह

डकार लेने की कोशिश में हो जाएगी उल्टी

अब चूंकि गैस पेट में ही भोजन और तरल के साथ मिक्स रहती है. ऐसे में अकेले गैस बाहर नहीं आ सकती है. अगर कोई डकार लेने की कोशिश करेगा तो मुंह से गैस के साथ भोजन और तरल पदार्थ भी बाहर निकल आएगा. ये बिल्कुल उल्टी जैसा होगा. 

Source: metro

अब आप बखूबी अंदाज़ा लगा सकते हैं कि अगर कोई अपने ही स्पेस सूट में उल्टी कर बैठा, तो ये कैसा अनुभव होगा. वैसे मुंह से डकार तो छोड़िए, आप दूसरे हिस्से से भी गैस को बाहर नहीं निकालना चाहेंगे. दरअसल, अंतरिक्ष स्टेशन छोटा सा होता है. साथ ही वो पूरी तरह बंद भी रहता है. ऐसे में अगर आपने गैस छोड़ी तो उसकी बदबू वहीं बनी रहेगी. 

यही वजह है कि अंतरिक्ष यात्रियों को बहुत ज़्यादा गैस बनाने वाला खाना नहीं दिया जाता है.