आपने देखा होगा कि सड़क पर चलने वाली जितनी भी कार हैं, उनकी विंडशील्ड तिरछी होती है. वहीं, जब आप ट्रकों को देखते हैं, तो ऐसा नहीं पाते. उनकी विंडशील्ड एकदम सपाट होती है. आपने इसे कई बार देखा होगा, मगर शायद ही कभी सोचा हो कि ऐसा क्यों होता है.

truck and car
Source: taylorautoglass

ये भी पढ़ें: आपने कभी सोचा है कि मोबाइल चार्जर पर बने Symbols का क्या मतलब होता है?

अगर सोचा भी होगा तो शायद इस अंतर को आपने महज़ एक डिज़ाइन मान लिया हो. मगर बता दें, ऐसा बिल्कुल भी नहीं है. यूं ही इन दोनों का डिज़ाइन इस तरह से नहीं बना दिया गया है. बल्कि इसके पीछे वैज्ञानिक वजह है. 

कार की विंडशील्ड तिरछी होने का कारण- 

कार की विंडशील्ड तिरछी होने का सिंपल कारण एयर ड्रैग को कम करना है. दरअसल, कार का इस्तेमाल कम समय में अधिक दूरी तय करने के लिये होता है. जब कार तेज़ स्पीड में चलती है, तब हवा का भारी दबाव बनता है. विंडशील्ड तिरछी होने से ये दबाब डायरेक्ट नहीं पड़ता. हवा विंडशील्ड से टकराने के बजाय ऊपर से निकल जाती है. अगर ऐसा नहीं होता, तो कार को आगे बढ़ने के लिये ज़्यादा दम लगाना पड़ता. स्पोर्ट कारों की विंडशील्ड भी इसलिये आम कारों की तुलना में ज़्यादा तिरछी होती है.

car
Source: extremetech

इसका एक फ़ायदा ये भी है कि अगर सड़क का कोई मलबा या कंकड़-पत्थर उड़कर कार के कांच से टकराता है, तो वो डायरेक्ट नहीं लड़ता. इससे कांच को बहुत ज़्यादा नुक़सान नहीं होता. हालांकि, कार का शीशा यूं भी कांच का नहीं बना होता है. वे टेम्पर्ड ग्लास के दो टुकड़ों से बने होते हैं. ऐसे में अगर वो टूटते भी हैं, तो बहुत तेज़ी से बिखरते नहीं.

तो क्या ट्रक को स्पीड की ज़रूरत नहीं पड़ती?

truck
Source: qualityautoglassnj

अब ये सवाल उठना लाज़मी है कि जब कार को स्पीड की ज़रूरत है, तो क्या ट्रक को नहीं है. फिर इसकी विंडशील्ड सपाट क्यों? यक़ीनन ट्रकों को भी स्पीड की ज़रूरत होती है, मगर उससे भी महत्वपूर्ण ये है कि ट्रक ड्राइवर्स को शीशे से ठीक तरह से चीज़ें दिखाई दें. ट्रक कार के मुकाबले बहुत बड़ा होता है. अगर इसकी विंडशील्ड को तिरछा किया जाता है, तो ड्राइवर आसानी से आगे नहीं देख पाएंगे. जिससे एक्सीडेंट की सम्भावना बने रहेगी. 

वहीं, एक कार में विंडशील्ड छोटी होती है. ऐसे में विज़्युअली बहुत ज़्यादा समस्या नहीं आती. मगर ट्रक की विंडशील्ड बड़ी होने से समस्या होती है. ऐसे में उसकी स्पीड से सुरक्षा के कारण समझौता करना पड़ता है.

तो अब आप समझ गये होंगे कि कार और ट्रक की विंडशील्ड अलग-अलग तरह से क्यों बनी होती है.