(Himba Tribe Women Bath Once A Year)– बदलते समय के साथ “सुंदरता” शब्द की परिभाषा भी चुकी है. आए दिन हमे ख़बरों में देखने को मिलता है कि, इस बॉलीवुड एक्ट्रेस ने लाखों रुपये देकर देकर प्लास्टिक सर्जरी कराई. लेकिन ये सच है कि, “सुंदरता देखने वाले की आंखों में होती है”, ये बात अफ्रीका के नॉर्थ-वेस्ट नामीबिया के कुनैन प्रांत की हिम्बा जनजाति की महिलाओं ने साबित कर दिया. दरअसल, इस जनजाति की महिलाएं ज़िन्दगी में सिर्फ़ एक बार नहाती हैं. क्यूं ये सुनकर हैरानी हुई ना? तो चलिए बिना किसी देरी के इस आर्टिकल के माध्यम से आपको इस जनजाति के बारे में विस्तार से बताते हैं.  

ये भी पढ़ें: इन 22 तस्वीरों में क़रीब से देखें अफ़्रीका की ओमो घाटी की जनजातियों की ख़ास जीवनशैली और संस्कृति

आइये जानते हैं, इस जनजाति से जुड़ी दिलचस्प बातें (Himba Tribe Women Bath Once A Year)-  

इस जनजाति में लगभग 50,000 हज़ार लोगों की आबादी है. 

ये जनजाति नॉर्थ-वेस्ट नामीबिया के कुनैन प्रांत में रहती है. कहते हैं हर एक जनजाति का अलग इतिहास, संस्कृति और सभ्यता होती है. लेकिन इस जनजाति के औरतों का रहन-सहन बहुत दिलचस्प है.  

ये भी पढ़ें: अफ़्रीका के कबीलाई लोगों की ये 16 तस्वीरें ख़ूबसूरती का एक अनूठा रूप पेश कर रही हैं

पानी से नहाना है मना!

historyofyesterday

इस जनजाति में महिलाओं का पानी से नहाना मना है. वो सिर्फ़ ज़िन्दगी में एक बार अपनी शादी के दिन नहाती हैं. हम और आप रोज़ाना खुद को साफ़ और स्वच्छ रखने के लिए नहाते हैं. लेकिन इस जनजाति की महिलाएं खुद को साफ़ रखने के लिए जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल करती हैं. (Himba Tribe Women Bath Once A Year)

ख़ुद को साफ़ रखने की तकनीक है ख़ास!

herzindagi

इस जनजाति की महिलाएं पहले पानी लेती हैं. फ़िर उस पानी में वो एक ख़ास प्रकार की जड़ी-बूटियों को उबालती हैं. जिसके बाद उसके धुंए से वो अपने शरीर को साफ़ रखती हैं. ये काफ़ी दिलचस्प बात है की उनके शरीर से किसी भी प्रकार की दुर्गंध नहीं आती है.

ख़ास तरीक़े का लोशन 

youtube

इसके अलावा इस जनजाति की महिलाएं ख़ुद को सूरज की हानिकारक किरणों से बचाने के लिए एक ख़ास तरह का लोशन अपने शरीर पर लगाती हैं. उनका ये लोशन जानवर की चर्बी और हेमाटाइट (लौह के खनिज रूप) की धूल से तैयार किया जाता है. जिसके वज़ह से उनकी त्वचा लाल दिखती है. (Himba Tribe Women Bath Once A Year)