प्लास्टिक बैग, बोतलों और फेस मास्कों का बढ़ता इस्तेमाल पर्यावरण को बहुत नुकसान पहुंचा रहा है. प्लास्टिक वेस्ट मेकर्स इंडेक्स की मानें तो सिंगल यूज प्लास्टिक के कचरे का बड़ा हिस्सा केवल मुठ्ठी भर बड़ी कंपनियों से आता है.

1. एक्सॉन मोबिल

एक्सॉन मोबिल एक अमेरिकी मल्टीनेशनल तेल और गैस की कंपनी है. धरती पर मौजूद प्लास्टिक के कुल कचरे का 5.9 फीसदी इस कंपनी से आता है.

Insider

2. डाउ

डाउ एक अमेरिकी रसायन और प्लास्टिक निर्माता कंपनी है. यह 5.6 फीसदी प्लास्टिक कचरे के लिए जिम्मेदार है.

DOW

3. सिनोपेक

सिनोपेक चीनी तेल और गैस उद्यम समूह है. यह बीजिंग में स्थित है. प्लास्टिक के कचरे का 5.3 फीसदी इस कंपनी से आता है.  

FT

4. इंडोरामा वेंचर्स

इंडोरामा वेंचर्स केमिकल और ऊनी धागे की वैश्विक निर्माता कंपनी है. यह बैंकॉक में स्थित है. 4.6 फीसदी प्लास्टिक का कचरा इस कंपनी से आता है.

indoramaventures.com

5. सऊदी अरामको

सऊदी अरामको सऊदी अरब की तेल की कंपनी है. यह विश्व की सबसे बड़ी तेल निर्यातक है. 4.3 फीसदी प्लास्टिक का कचरा इस कंपनी से आता है.

hydrocarbons-technology.com

6. पेट्रो चाइना

पेट्रो चाइना एक चीनी तेल और गैस उद्यम समूह है. बीजिंग में स्थित यह कंपनी धरती पर 4 फीसदी प्लास्टिक कचरे के लिए जिम्मेदार है.

WSJ

7. लायनडेल बेसेल

लायनडेल बेसेल एक डच बहुराष्ट्रीय रासायनिक कंपनी है. यह 3.9 फीसदी प्लास्टिक कचरे के लिए जिम्मेदार है.

WSJ

8. रिलायंस इंडस्ट्रीज

मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज पेट्रोकेमिकल्स, तेल और गैस के क्षेत्र में काम करती है. 3.1 फीसदी प्लास्टिक का कचरा इस कंपनी से आता है.

India Today

9. ब्रास्केम

ब्रास्केम ब्राजील की एक पेट्रोकेमिकल कंपनी है. यह लैटिन अमेरिका की सबसे बड़ी कंपनी है. धरती पर 3 फीसदी प्लास्टिक का कचरा यहां से आता है.

.thesrigroup.com

जब तक आम लोग प्लास्टिक प्रदूषण को लेकर जागरूक नहीं होंगे और कंपनियों पर दबाब नहीं बनाएंगे तब तक शायद सबकुछ ऐसा ही चलता रहेगा.