आओ सिखाऊं तुम्हें अंडे का फ़ंडा… संडे हो या मंडे रोज़ खाओ अंडे… यही सब सुनकर तो हम बड़े हुए हैं. अंडे को हमारी Balanced Diet का महत्वपूर्ण हिस्सा कहा जाता है. सरकार भी इसके सेवन पर ज़ोर देती है, Ads वगैरह तो आपने देखे ही होंगे. लेकिन भारत में अंडे खाने वालों के लिए एक बुरी खबर है.

NDTV में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, Food Contamination हमारे देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में एक बहुत बड़ी समस्या है. दूषित खाना खाने से हर साल हज़ारों लोगों की मौत होती है.

क्या हैं अंडे और अन्य खाद्य सामग्री के दूषित होने के कारण?

खाने के दूषित होने का मुख्य कारण हैं, Salmonell और E.Coli. ये दोनों आसानी से डेयरी, Poultry प्रोडक्ट्स के सहारे हमारे खाने में पहुंच सकते हैं. ये दोनों बैक्टिरिया पानी के सहारे भी हमारे शरीर में पहुंच सकते हैं. ये जीवाणु आमतौर पर Warm Blooded Animals में ही होते हैं, यानी की डेयरी और Poultry वाले जानवर में ये आराम से पल और बढ़ सकते हैं.

Salmonella गाय के दूध में भी आसानी से उग सकते हैं. लेकिन इस जीवाणु का सबसे आम Carrier हैं अंडे. मुर्गी और बतख के बच्चों में भी ये जीवाणु अपना घर बना सकते हैं.

हाल ही में जारी की गई एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में Poultry फ़ार्म्स अंतर्राष्ट्रीय स्टैंडर्ड्स के मुताबिक मुर्गीपालन नहीं करते. साफ़-सफ़ाई के अभाव के साथ ही Poultry फ़ार्म्स में पक्षियों के स्वास्थ्य का भी ख़्याल नहीं रखा जाता. इन कारणों से पक्षियों में आसानी से जीवाणु अपना बसेरा बना सकते हैं. बीमार मुर्गियां जो अंडे देती हैं, उनके द्वारा भी बैक्टीरिया संक्रमण की संभावनाएं काफ़ी ज़्यादा होती हैं.

ग़ौरतलब है कि अंडों को पकाने के ढंग से भी संक्रमण फैल सकता है. दूसरे खाद्य पदार्थों के बजाय अंडों के दूषित होने की ज़्यादा संभावना होती है. फ़्रिज में रखे अंडों के छिलकों पर मौजूद जीवाणु फ़्रिज में रखे अन्य खाद्य पदार्थों को भी दूषित कर सकते हैं.

सिर्फ़ बैक्टीरिया ही नहीं करते अंडों को दूषित

ध्यान देने की बात ये है कि सिर्फ़ Salmonella और E.Coli ही अंडों को दूषित नहीं करते. Heavy Metal, कीटनाशकों से भी अंडों के दूषित होने का ख़तरा बना रहता है. Huffington Post में छपी रिपोर्ट के अनुसार, इस विषय में 2005 में एक शोध किया गया था. शोध में आए परिणाम के अनुसार पंजाब में अंडों के सैंपल में ऐसे Pesticides पाए गए जिनके इस्तेमाल पर रोक लगाई गई थी. 2010 में छपी एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार अंडों में Lead और Cadmium जैसे ख़तरनाक तत्व पाए गए. वही Lead, जिसके कारण Nestle की Maggi पर हफ़्तों के लिए रोक लगा दी गई थी.

दूषित अंडे खाने से कैसे बचें?

NDTV ने अपनी रिपोर्ट में कुछ सुझाव भी दिए जिससे की हम दूषित अंडे के सेवन से बच सकते हैं.

1. अगर हो सके तो Organic अंडे ही खरीदें, लेकिन ये हद महंगे मिलते हैं.

2. फ़्रिज में रखने से पहले अंडों को अच्छे से धो लें.

3. पेपर में Wrap कर के अंडों को फ़्रिज में रखें.

4. अंडों को 1 डिग्री सेल्सियस पर ठंडा रखने की कोशिश करें.

5. अंडों को फ़्रिज से निकालने के 2-3 घंटों के अंदर ही खा लें.

6. कच्चे अंडें खाने से बचें. आधे पके या कच्चे अंडे खाने से संक्रमण के आसार बढ़ जाते हैं.

ज़रा सी असावधानी आपको बीमार, बहुत बीमार कर सकती है. दूषित खाना खाने से डायरिया, डिहाइड्रेशन और यहां तक की टाइफ़ाइड भी हो सकता है.