'तालों में नैनीताल, बाक़ी सब तलैया...!
अजय देवगन की फ़िल्म 'होगी प्यार की जीत' का ये गाना तो आप सभी ने सुना ही होगा. जी हां, ख़ूबसूरती के मामले में नैनीताल के तालों के आगे सब तलैया ही नज़र आते हैं.

उत्तराखंड के सबसे ख़ूबसूरत हिल स्टेशन में से एक 'नैनीताल' अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध है. नैनीताल में एक से बढ़कर एक ख़ूबसूरत ताल हैं. मौसम चाहे गर्मी का हो या फिर ठंड का नैनीताल पर्यटकों की पहली पसंद होता है. इसलिए यहां आने वाले पर्यटकों के लिए ये जगह स्वर्ग से कम नहीं है.

Source: dctvacationsusa

अधिकतर पर्यटक नैनीताल जाकर सिर्फ़ 'नैनी झील' को देखकर ही ख़ुश हो जाते हैं, लेकिन नैनीताल में इसके अलावा भी कई अन्य आकर्षक 'ताल' हैं, जो हर सीज़न में पर्यटकों के आकर्षण का मुख़्य केंद्र होते हैं.

1- भीमताल

Source: exploreouting

नैनीताल में लंबाई के मामले में 'भीमताल' सबसे बड़ा ताल है. ख़ूबसूरती के मामले में भीमताल नैनीताल से भी ज़्यादा ख़ूबसूरत है. अगर आप नैनीताल की भीड़-भाड़ से दूर किसी शांत जगह पर रुकना करना चाहते हैं तो भीमताल बेहतर रहेगा.

2- नौकुचियाताल

Source: clubmahindra

नैनीताल से करीब 26 किमी की दूरी पर स्थित ये नौकुचियाताल यहां की सबसे गहरा ताल है. 'नौकुचिया' का मतलब होता है नौ कोने वाला. इस ताल के नौ कोनों को लेकर भी कई तरह की कहावतें हैं. जिनमें से एक ये भी है कि यदि कोई व्यक्ति एक दृष्टि से इसके नौ कोनों को देख ले तो उसे मोक्ष की प्राप्ति हो जाती है. आप लाख कोशिश ही क्यों न कर लें, लेकिन सात से अधिक कोने एक बार में नहीं देखे जा सकते.

3- सातताल

Source: untravel

ये ताल नैसर्गिक सौन्दर्य के मामले में नैनीताल ज़िले की सबसे ख़ूबसूरत ताल है. नैनीताल के बाद सबसे अधिक पर्यटक यहीं देखे जा सकते हैं. सातताल जाने के लिए नहीं भीमताल मुख्य मार्ग से ही होकर जाना होता है. भीमताल से 'सातताल' की दूरी केवल 4 किमी है जबकि नैनीताल से इसकी दूरी 21 किमी है.

4- खुर्पाताल

Source: travelbypro

नैनीताल से करीब 10 किमी की दूरी पर स्थित 'खुर्पाताल' अन्य तालों के मुक़ाबले छोटा, लेकिन बेहद ख़ूबसूरत है. इस ताल के आस-पास का नज़ारा देखने लायक है. इसके किनारे पर एक छोटा सा ख़ूबसूरत गांव बसा है. अगर आप मछली पकड़ने के शौकीन हैं तो यहां जा सकते हैं.

5- सूखाताल

Source: governancenow

इसके नाम से प्रतीत हो रहा है कि इस ताल में पानी बेहद कम है. ये सच भी है एक समय में ये ताल भी पानी से भरा होता था. इसे नैनीताल (नैनी झील) के अस्तित्व के रूप में भी देखा जाता है. नैनी झील के समूचे जल संग्रहण क्षेत्र में से तकरीबन 18 फ़ीसदी सूखाताल के हिस्से आता है.

6- चाइना पीक या नैनापीक

Source: twitter.com

नैनीताल की सात चोटियों में से 'चाइना पीक' सबसे ऊंची चोटी है. नैनीताल से चाइना पीक की दूरी लगभग 6 किलोमीटर है. इस चोटी से हिमालय की ऊंची-ऊंची चोटियों के दर्शन होते हैं. यहां से नैनीताल झील और शहर का नज़ारा देखने लायक होता है. ट्रेकिंग के शौक़ीनों के लिए चाइना पीक स्वर्ग जैसा है.

7- किलवरी

Source: nainitaltourism

किलवरी नैनीताल की दूसरी सबसे ऊंची पर्वत चोटी है. ये जगह पिकनिक मनाने के लिए बेहद शानदार है. यहां पर वन विभाग का एक रेस्ट हाउस भी है. दिसंबर और जनवरी के समय में किलवरी की पहाड़ियां बर्फ़ से ढकी होती हैं.

8- टिफ़िन टॉप

Source: hillvalleyhomes

'टिफ़िन टॉप' नैनीताल की सबसे प्रसिद्ध पहाड़ियों में से एक है. घूमने-फिरने के हिसाब से ये जगह पर्यटकों के बीच काफ़ी फ़ेमस है. यहां से हिमालय के ख़ूबसूरत नज़ारे देखने लायक होते हैं. यहां से नेपाल की ऊंची-ऊंची हिमालय पर्वत श्रृंखलाएं भी नज़र आती हैं.

9- स्नोव्यू और हनी-बनी

Source: beautyofindia

नैनीताल से करीब ढाई किमी की दूरी पर हवाई पर्वत चोटी है. मल्लीताल से रोपवे पर सवार होकर यहां आसानी से जाया जा सकता है. यहां से हिमालय के विहंगम दृश्य दिखाई देते हैं. स्नोव्यू से लगी हुई दूसरी चोटी हनी-बनी है, यहां से भी हिमालय का सुंदर नज़ारा देखने लायक होता है.

10- चिड़ियाघर

Source: ukinfo

नैनीताल माल रोड पर स्थित चिड़ियाघर स्वतंत्रता सेनानी गोविंद बल्लभ पंत के नाम पर रखा गया है. यहां आपको बंदर से लेकर हिमालयन काला भालू, तेंदुए, साइबेरियाई बाघ, पाम सिवेट बिल्ली, भेड़िया, चमकीले तीतर, पहाड़ी लोमड़ी, हिरण और सांभर जैसे जानवर देखने को मिल जायेंगे.

11- रोप-वे या ट्रॉली

Source: tnhglobal

नैनीताल जा रहे हैं और रोप-वे का आनंद नहीं लिया तो फिर जाना ही बेकार है. मल्लीताल से स्नोव्यू तक रोपवे से नैनीताल के ख़ूबसूरत नज़ारों का लुत्फ़ उठाना न भूलें. सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक आप इसकी सवारी कर सकते हैं, दोनों तरफ़ का किराया बड़ों के लिए 150 रुपये व बच्चों के लिए 100 रुपये है.

12- घुड़सवारी

Source: tripadvisor

नैनीताल आने वाले सैलानियों के लिए हॉर्स राइडिंग एक नया अनुभव होगा. यहां के बारापत्थर इलाके से घोड़े किराए पर लेकर आप नैनीताल की अलग-अलग चोटियों की सैर कर सकते हैं. शहर के अंदर घुड़सवारी अब पूरी तरह से प्रतिबंधित है.

13- राजभवन

Source: tripadvisor

इंग्लैंड के बकिंघम पैलेस की तर्ज पर बनाए गए राजभवन उत्तराखंड के राज्यपाल का निवास है. दो मंजिला इमारत में 113 कमरे हैं. यहां शानदार गार्डन, गोल्फ़ लिंक, स्वीमिंग पूल, झंडीदार मोदी हाइट्स, मुंशी हाइट्स जैसी जगहें राजभवन में देखने योग्य हैं.

14- हनुमान गढ़ी

Source: traveltriangle

हनुमान गढ़ी मंदिर नैनीताल का प्रमुख मंदिर है. नैनीताल करीब 3 किमी पहले ही आप इस मंदिर के दर्शन कर सकते हैं. इस जगह से सूर्य ढलने का ख़ूबसूरत नज़ारा देखने लायक होता है ये जगह इसी के लिए मशहूर भी है. इसी पहाड़ की दूसरी तरफ शीतला माता का मंदिर और लीला शाह बापू का आश्रम भी है.

15- आर्यभट्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट

Source: nainitaltourism

हनुमान गढ़ी से करीब 1 किमी की दूरी पर बसा ये इंस्टीट्यूट खगोलीय अध्यन और कृत्रिम उपग्रहों पर निगरानी रखने के लिए बनाया गया है. रात में तारों और ग्रहों को देखने के लिए यहां कुछ चांदनी रातें तय की गई हैं और अगर कोई सैलानी आसमान की गहराई में झांकना चाहता है तो यहां आ सकता है.

तो दोस्तों नैनीताल ट्रिप की सोच रहे हैं तो इन सभी जगहों पर जाना ज़रूर, तभी पैसे वसूल होंगे.