दुनिया में शायद ही कोई होगा, जो अपने बचपन को याद नहीं करता होगा. पतंग लूटना, खेतों में जाकर गन्ने चुराना, भरी दोपहर में दोस्तों के साथ मैच खेलना और न जाने क्या-क्या चीज़े थीं, जो बड़े होने के बाद छूट गई. इन्हीं में से सबकी एक और मनपसंद चीज़ थी, रात में चमकते जुगनू पकड़ना. शहर में तो जुगनू देखने को मिलते ही नहीं, इसीलिए आज के शहरी बच्चों को जुगनुओं के बारे में कम ही पता है. बचपन के इसी याद को फिर से ताज़ा कर रहा है, महाराष्ट्र का एक गांव पुरुषवाड़ी.

महाराष्ट्र के 'पुरुषवाड़ी' गांव में हैं लाखों जुगनू

Source: Festivalsherpa

आपको जुगनुओं के शानदार नज़ारे को देखने के लिए महाराष्ट्र के अहमदनगर के पुरुषवाड़ी गांव जाना होगा. ये गांव मुंबई से 220 किलोमीटर दूर है. इस गांव में जुगनुओं को देखने के लिए एक विशेष मेला लगा हुआ है.

इस मेले की ज़िम्मेदारी Grassroutes संस्था और इस गांव के लोगों के हाथों में है. यहां लाखों जुगनू रात में इकट्ठा होते हैं और गांव को अपनी रौशनी से जगमग कर देते हैं.

Video Source: Sunny Lamba

अगर गांव की ज़िन्दगी नहीं देखी, तो ये गांव आपके लिए यादगार होने वाला है

Grassroutes ने यहां आने वाले लोगों के रहने के लिए गांव में टेन्ट की व्यवस्था की है. आप चाहे तो अपने रहने के लिए टेन्ट चुन सकते हैं या फिर चाहे तो गांव के ही किसी घर में रुक सकते हैं. यहां खाना गांव की महिलाएं ही बनाती हैं.

जुगनुओं को देखने के लिए आपको रात का इंतज़ार करना होगा, लेकिन आप दिन में गांव के त्योहारों में भाग ले सकते हैं और मज़ेदार खेल भी खेल सकते हैं. इस गांव के झीलों और घाटियों के सुंदर नज़ारे का भी लुत्फ़ आप उठा सकते हैं.

जुलाई के पहले हफ़्ते तक आ सकते हैं यहां

वैसे तो ये मेला एक महीने तक चलता है, लेकिन इस मेले का लुत्फ़ उठाने के लिए आपके पास अगले 2 हफ़्ते हैं. आपको बस Grassroutes संस्था से संपर्क करना होगा, इसके बाद आगे की सारी ज़िम्मेदारी वो देखेंगे. अगर आपको गांव के माहौल के बारे में कुछ नहीं पता है, तो आप अपने साथ बिस्किट, दवाईयां, Mosquito Repellents, धूप का चश्मा, जूते और अपने ज़रूरी सामान लेकर जाएं. यहां आने से पहले मौसम की जांच ज़रूर कर लें, क्योंकि बारिश में जुगनू नहीं दिखते हैं.

अगर आप कुदरत के साथ कुछ वक़्त बिताना चाहते हैं और गांव की ज़िंदगी जीना चाहते हैं, तो हमें यकीन है कि पुरूषवाड़ी गांव में आपको ये सब मिलेगा. जुगनुओं की रौशनी से चमकते इस गांव को देखकर आपकी ज़िंदगी में भी एक चमकदार लम्हा जुड़ जाएगा.

Source: Scoopwhoop

Feature Image Source: Festivalsherpa