महाराष्ट्र से एक बेहद शर्मनाक घटना सामने आई है. महाराष्ट्र की एक महिला पुलिसकर्मी ने पहले अपना कर्तव्य निभाते हुए, एक्सीडेंट का शिकार हुई लड़की की मदद कर उसे अस्पताल पहुंचाया. पर बाद में उसके मन में लालच आ गया और उसने पीड़िता के बैग से 50 हज़ार रुपये चुरा लिए.

वारदात पुणे-मुंबई हाइवे की है. बताया जा रहा है कि प्रणिता नंदकिशोर बेंद्रे नामक MBA स्टूडेंट अपने पिता के साथ बाइक पर बैंक में पैसे जमा करने के लिए निकली थी. तभी अचानक तालेगांव दभाड़े पुलिस स्टेशन के ठीक सामने हाईवे पर उनकी बाइक एक दूसरी मोटरसाइकिल से टकरा गई. इस हादसे में प्रणिता और उनके पिता बुरी तरह ज़ख़्मी हो गए.

घटना के वक़्त पुलिस स्टेशन में मौजूद 32 वर्षीय स्वाति जाधव नामक महिला पुलिसकर्मी, बिना देरी किए हुए तुरंत उनकी सहायता के लिए आगे आई. इसके बाद पुलिसकर्मी ने घायल प्रणिता को दिलासा देते हुए, पैसों से भरा बैग पुलिस स्टेशन में रखने को कहा और इलाज के लिए हॉस्पिटल जाने की सलाह दी.

वहीं जब पीड़िता शाम को अस्पताल से वापस पुलिस स्टेशन पहुंची, तो उसे पैसों से भरा बैग गायब मिला. पुलिस ने प्रणिता के खोए हुए बैग की खोजबीन शुरू की, तो सीसीटीवी फुटेज में पुलिसकर्मी जाधव की चोरी पकड़ी गई और वो चोरी-छिपे बैग ले जाती हुई दिखाई दी. बताया जा रहा है कि आरोपी जाधव ने अपना जुर्म क़ुबूल कर लिया है. इसके साथ ही मजिस्ट्रेट कोर्ट से आदेश मिलने के बाद आरोपी को गिरफ़्तार कर लिया गया.

इस मामले पर बात करते हुए देहू रोड पुलिस डिवीज़न के डीएसपी गोविंद माडगुलकर ने बताया, 'संबंधित पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर मुगुतराव पाटिल ने आरोपी पुलिसकर्मी की करतूत की जानकारी पुणे ग्रामीण के एसपी को दी. आरोपी के खिलाफ़ कार्रवाई की जा रही है. साथ ही पीड़िता का बैग बरामद कर लिया गया है, जिसमें 50 हज़ार रुपये, बैंक पासबुक, आधार कार्ड, पैन कार्ड और अन्य दस्तावेज़ प्राप्त हुए हैं.'

Source : IndiaTimes