मलेशिया में एक आदमी पर अपनी ही बेटी का 600 से ज़्यादा बार यौन शोषण करने के आरोप में मुकदमा चल रहा है. मलेशियन अधिकारियों के अनुसार, अगर इस व्यक्ति पर ये सभी आरोप साबित हो जाते हैं तो इसको पिता-पुत्री के रिश्ते की मर्यादा को तोड़ने और ऐसे जघन्य अपराधों को अंजाम देने के लिए 12,000 साल की सजा सुनाई जा सकती है.

Source: martineztribune

ये एक 36 वर्षीय तलाकशुदा आदमी है और इसके ख़िलाफ़ लगे सभी 626 चार्ज पढ़ने में कोर्ट के अधिकारियों को 2 दिन का वक़्त लगा. इन सभी आरोपों में से 599 आरोप ऐसे हैं, जो अपनी 15 साल की बेटी से अप्राकृतिक सेक्स करने के हैं. इसके अलावा रेप और दूसरे यौन अपराधों के आरोप भी हैं.

बीते गुरुवार को जब इस आदमी पर ये आरोप लगाए जा रहे थे, उस वक़्त वो चुपचाप सारी बात सुन रहा था. अपने बचाव में उसने कहा कि वो निर्दोष है और उसने ऐसा कुछ नहीं किया है. आरोपों की को गंभीरता को देखते हुए अभी आरोपी का ट्रायल चलेगा. लेकिन तब तक इस मुकदमें की सुनवाई कर रहे जज Yong Zarida Sazali ने इस आदमी की जमानत की अर्जी को खारिज कर दिया है.

Source: kapamilya

डिप्टी पब्लिक प्रॉसिक्यूटर Aimi Syazwani ने AFP को मलेशिया की प्रशासनिक राजधानी Putrajaya में हाल ही स्थापित हुई बच्चों के ख़िलाफ़ यौन अपराधों के लिए विशेष अदालत में कहा, 'इस आरोपी को 12,000 साल की जेल की सज़ा दी जा सकती है.'

सूत्रों की मानें तो अप्राकृतिक सेक्स के हर आरोप के लिए दोषी को 20 साल की जेल के साथ कोड़े खाने की सज़ा भी दी जा सकती है. लेकिन इस व्यक्ति पर अपनी बेटी का बार-बार बलात्कार करने का भी आरोप है, जिसके लिए उसको अधिकतम 20 साल की सज़ा सुनाई जा सकती है. इतना ही नहीं उसके ऊपर यौन उत्पीड़न के 30 आरोप और भी हैं, इनके लिए भी उसे 20-20 साल की जेल हो सकती है.

यौन उत्पीड़न का शिकार हुई इस बच्ची की मां ने उसके ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज कराइ थी, जिसके बाद व्यक्ति को इसी 26 जुलाई को पुलिस ने गिरफ्तार किया गया था.

गौरतलब है कि इस व्यक्ति ने इसी साल जनवरी से जुलाई के बीच अपनी बेटी के साथ 600 से ज़्यादा बार यौन उत्पीड़न किया. इस दौरान पीड़िता अपने पिता के साथ ही रह रही थी. यहां पर बच्चों के खिलाफ यौन अपराधों के लिए विशेष अदालत जून में शुरू हुई थी.

Feature Image Source: thejournal