सोशल मीडिया पर तस्वीरों को वायरल करने का चस्का, लाइक्स और कमेंट पाने की चाहत न जाने कितने लोगों की जान ले चुकी है. सेल्फ़ी का पागलपन हम सब ने देखा है, लेकिन इस बार का मामला सिर्फ़ लापरवाही का ही नहीं, बल्कि बेवकूफ़ी भरा भी है.

घटना राजस्थान के जोधपुर इलाके की है, पहली ख़बर के अनुसार, एक सपेरा कोबरा सांप के साथ खेल दिखा रहा था. वहीं खड़ा एक शख़्स कोबरा सांप के साथ तस्वीर खिंचवाने के लिए आगे बढ़ा, लेकिन उसी वक़्त सांप ने उसे सिर के पास काट लिया. उस शख़्स को ये एहसास नहीं हुआ कि ज़हर उसके शरीर में घुस चुका है. वहां खड़े लोगों ने भी इस बात को इतनी गंभीरता से नहीं लिया, लेकिन ज़हर ने कुछ ही देर में अपना असर दिखाना शुरू कर दिया. बेहोशी की हालत में उस शख़्स को हॉस्पिटल ले जाया गया, लेकिन तब तक काफ़ी देर हो चुकी थी और सांप का ज़हर अपना काम कर चुका था.

लेकिन ख़बर की जांच के बाद पता चला कि ये पूरी घटना अंधविश्वास से जुड़ी थी. असल में जिस शख़्स के हाथ में सांप है, वो खुद को भोपे यानी तांत्रिक बताता है. उसने अपनी कला दिखाने के लिए इस शख़्स के गले में सांप डालने की कोशिश की. इस दौरान सांप ने उस शख़्स को डस लिया. इस बात की जानकारी शख़्स ने तांत्रिक को भी दी. लेकिन तांत्रिक ने इस बात को गम्भीरता से नहीं लिया. इसके बाद उसने झाड़, फूंक के ज़रिए सांप का ज़हर निकालने की कोशिश करीब 2 घंटों तक की. लेकिन हालत बिगड़ता देख, जब वहां खड़े लोगों ने उसे अस्पताल पहुंचाया तब तक काफी देर हो चुकी थी.

अस्पताल पहुंचने के करीब एक घंटे के बाद ही उस शख़्स ने अपना दम तोड़ दिया. कोबरा का ज़हर काफ़ी ख़तरनाक होता है. इस ज़हर के शरीर में जाते ही बेहोशी आने लगती है और धीरे-धीरे शख़्स कोमा की स्टेज में पहुंच जाता है. कुछ देर में ही शख़्स की मौत हो जाती है.

Source: Noodles

अक्सर खेल दिखाने वाले सपेरे, सांप से ज़हर निकाल देते हैं. लेकिन इस बार ऐसा नहीं था.ख़ुद को तांत्रिक मानने वाले शख़्स की मस्ती और तस्वीर के लिए लिया गया छोटा-सा फ़ैसला एक जान की कीमत चुका कर अदा करना पड़ा. ये दुखद है, लेकिन इससे सीख भी मिलती है कि ख़तरे का सामना करना तो अच्छा है, लेकिन खुद ख़तरे के मुंह में जाना बहादुरी नहीं, बेवकूफ़ी कहलाती है.

Image Source: Metro