एक छोटी सी बात पर विवाद होने पर, दरियागंज के एक भोजनालय के कर्मचारियों ने 45 वर्षीय व्यक्ति की पीट-पीट कर हत्या कर दी. दिल्ली में हुई इस घटना के बाद दोनों आरोपी फ़रार हो गए थे, जिन्हें बाद में पकड़ लिया गया.

पीड़ित यश बहादुर ने चार रोटियां मंगाई थीं, लेकिन उसे दो ही रोटियां परोसी गयीं. इस पर बहस शुरू हुई और पीड़ित ने पैसे देने से इंकार कर दिया. इसके बाद भोजनालय के कर्मचारियों ने उसे बुरी तरह पीटना शुरू कर दिया. जब तक वो बेहोश नहीं हो गया, उसे बेरहमी से पीटा गया. अस्पताल में इलाज के दौरान पीड़ित की मौत हो गयी.

Source: Blogspot

बहादुर, नेताजी सुभाष मार्ग पर इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान में काम करता था. बीस वर्ष पहले वो अपने परिवार के साथ दिल्ली आया था और चांदनी चौक में रह रहा था. रविवार की रात को वो अपने दोस्तों के साथ ड्रिंक करने के बाद इस भोजनालय में डिनर करने आया था.

पुलिस ने बताया कि बहादुर को पहले दो रोटियां परोसी गयी थीं, जब उसने और रोटियां मांगीं, तो वेटर्स ने उसे इंतज़ार करने को कहा. इसके बाद बहस हुई और लोटन व मनोज ने उसे पीटना शुरू कर दिया.

अपने बचाव में बहादुर ने मुंह से लोटन की तर्जनी उंगली काट ली थी. इसके बाद लोटन ने डंडा उठा लिया और बहादुर को पीटने लगा. बहादुर के अंगों पर घूंसे मारे गए थे, जिसके कारण उसकी मौत हो गयी.

Source: Invindia

भोजनालय का मालिक ही कुछ स्थानीय लोगों के साथ बहादुर को अस्पताल ले कर गया था. उसने पुलिस को भी सूचना दी थी, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका.

पुलिस ने केस दर्ज किया और स्टेशन हाउस ऑफ़िसर सतेन्द्र मोहन के नेतृत्व में एक टीम को आरोपियों को खोजने में लगा दिया. दोनों आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है.