राजस्थान के टोंक के रहवासी जितेश दिवाकर के साथ एक अजीब वाकया हुआ. वो अपने घर के पास के एटीएम से पैसे निकलाने गए थे, मगर उम्मीद से ज़्यादा पैसे निकल आए. वे इस घटना से थोड़े परेशान भी हो रहे हैं. नोटबंदी के बाद इस तरह की ख़बरें देश के अन्य हिस्सों से देखने और पढ़ने को मिल रही थीं. आइए, पूरे मामले को विस्तार से जानते हैं.

Source: HT

बीते मंगलवार को दिवाकर पास के एटीएम से 3500 रुपये निकालने गए थे, मगर एटीएम से उन्हें 70,000 रुपये मिले. यह घटना राजस्थान की राजधानी जयपुर से 80 किलोमीटर की है.

Source: HT

इस घटना के बाद दिवाकर ने इसकी जानकारी तुरंत बैंक को दी. जिस एटीएम में गड़बड़ हुई, वो बैंक ऑफ़ बड़ोदा का एटीएम था. वे दिवाकर की ईमानदारी से काफ़ी प्रभावित हुए और उन्हें सम्मानित भी किया.

इस पूरी घटना पर दिवाकर कहते हैं

मैंने सर्वप्रथम इस घटना की जानकारी अपने पिताजी और चाचा को दी. उन दोनों के साथ हमने इसकी जनकारी बैंक ऑफ़ बड़ोदा के बैंक मैनेजर को दी

दिवाकर एक जिम्मेदार नागरिक हैं. वो ना सिर्फ़ ईमानदार हैं, बल्कि मेहनती इंसान भी हैं. अपनी सोच से उन्होंने देश के सामने एक मिसाल कायम की है.

Source: HT