भारत में प्रतिभाशाली लोगों की कमी नहीं है, बस मौका मिलना चाहिए. ये साबित कर दिया है उत्तरप्रदेश के लखीमपुर के यतीश चंद्र शुक्ला ने.

उन्होंने बिना रुके 100 घंटे तक लगातार मैराथन स्पीच देकर गोल्डन बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा लिया है. यतीश उत्तरप्रदेश के लखीमपुर खीरी के रहने वाले हैं. उन्होंने अपनी स्पीच 'भारत माता की जय' का नारा लगाकर ख़त्म की थी. इस बीच यतीश ने 32 ब्रेक लिए. आपको बता दें, इससे पहले 90 घंटे लगातार भाषण देने का गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड नेपाल के केसी अनंता के पास है.

यतीश ने अपनी इस उपलब्धि के बारे में कहा, ‘वो इतनी लंबी स्पीच देना चाहते हैं कि उनका रिकॉर्ड कोई और न तोड़ पाए.’

Source: haqeeqattoday

यतीश की सराहना करते हुए नोएडा से आए गोल्डन बुक के इंडिया हेड राकेश वैद्य ने उनको इस जीत का सर्टिफ़िकेट दिया. साथ ही बताया कि, अभी तक पढ़ने, पढ़ाने और सबसे लंबा भाषण देने का वर्ल्ड रिकॉर्ड अलग-अलग देश के लोगों के नाम दर्ज था, लेकिन यतीश ने इसे एक ही जिले और एक ही व्यक्ति के नाम दर्ज कर बड़ी उपलब्धि हासिल की है. इसके अलावा यतीश के पास चाबी के गुच्छों का विश्व रिकॉर्ड भी है. उनके पास 43,002 चाबियों का कलेक्शन है.

Source: jagranimages

ग़ौरतलब है कि इस रिकॉर्ड के बाद यतीश के नाम पढ़ने-पढ़ाने के तीन विश्व रिकॉर्ड हो गए हैं. पहला 148 घंटे लेक्चर देने का रिकॉर्ड, दूसरा सबसे लंबे समय तक भाषण देने का रिकॉर्ड और सबसे लंबे समय, 123 घंटे तक पढ़ने का रिकॉर्ड. गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स की एक टीम ने भी ये इवेंट ऑनलाइन मॉनिटर किया था.

Source: amarujala