25 साल का एक आदमी अपने साथ जो कुछ भी करता है, उसके लिए कोई दूसरा ज़िम्मेदार नहीं होता. मसलन के 25 साल के आदमी का ये कहना बिलकुल ग़लत है कि किसी ने उसे बुरी लत लगा दी. इसके लिए उस आदमी से ज़्यादा ज़िम्मेदार और कोई नहीं है.

वेस्ट दिल्ली के एक होटल में काम करने वाले एक कुक ने अपने शेफ़ की गोली मार कर हत्या कर दी. कारण - विक्टिम की वजह से उसे कैंसर हो गया था. अपराधी, मुस्तकीम अहमद ने अपने दोस्त और उसी रेस्टोरेंट में काम करने वाले Chef इनायत की हत्या कर दी क्योंकि उसकी सोहबत में आकर वो सिगरेट पीना और गांजा फूंकना सीख चुका था.

पुलिस के मुताबिक़, उत्तर प्रदेश के अमरोहा का रहने वाले मुस्तकीम अहमद को जब कैंसर हुआ, तो इनायत के प्रति उसकी नफ़रत बढ़ने लगी. वो पहले से ही Restaurant में बढ़ते इनायत के औहदे से चिढ़ा हुआ था. इनायत की हैसियत अहमद से ज़्यादा थी, इस बात की भी अहमद को चिढ़ थी.

कैंसर की वजह से अहमद की हालत और ख़राब हुई तो उसे नौकरी से निकाल दिया गया. इनायत के प्रति मन में नफ़रत भर चुका अहमद जब अपने गांव वापस गया तो, उसने एक पिस्तौल ख़रीदी और गांव से दिल्ली वापस आया.

वापस आकर पहले वो रेस्टोरेंट के मालिक से मिला और इनायत को नौकरी से निकालने की बात कही. मालिक के मना करने पर अहमद इनायत से मिला और उससे बहस करने लगा. बहस के बीच में ही अहमद ने इनायत को गोली मार दी. बाक़ी लोग इनायत को फ़ौरन हॉस्पिटल ले गए, लेकिन उसे गोली सीधे लगी थी इसलिए घाव की वजह से उसकी मौत हो गयी.

अहमद को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

Source: Hindustan Times